सऊदी अरब ने तोड़ा पाकिस्तान से दशकों पुराना नाता, ना मिलेगा तेल और ना कर्जा

सऊदी अरब और पाकिस्तान के बीच दशकों पुरानी दोस्ती का आज ‘द एंड’ हो चुका है। दरअसल, तेल सप्लाई न करने पर पाकिस्तान ने सऊदी को सार्वजानिक तौर पर धमकाया था। जिसके बाद सऊदी अरब ने बड़ा फैसला लेते हुए कहा है कि भविष्य में अब सऊदी अरब पाकिस्तान को न तो कर्ज देगा और न ही उसे तेल की सप्लाई करेगा। इतना ही नहीं सऊदी ने तो वसूली भी शुरू कर दी है। मिड्ल ईस्ट मॉनिटर ने यह जानकारी सार्वजानिक की है।

बता दे पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सार्वजनिक तौर पर सऊदी की आलोचना की थी और आईओसी की बैठक को लेकर उसे धमकाया था। जिसके बाद सऊदी ने पाक के साथ दोस्ती खत्म करने का निश्चय किया है। यही नहीं, सऊदी ने पाकिस्तान को दिया गया 1 अरब डॉलर का कर्ज जल्द से जल्द चुकाने को भी कह दिया है। बता दे साल 2018 में सऊदी ने पाकिस्तान को 6.2 अरब डॉलर का कर्ज दिया था, जिसे चुकाने के लिए पाक से कहा गया है।

दरअसल, नवंबर, 2018 में सऊदी द्वारा घोषित 6.2 बिलियन डॉलर के पैकेज में कुल 3 बिलियन डॉलर का ऋण और 3.2 बिलियन डॉलर की एक ऑयल क्रेडिट सुविधा शामिल थी। पाक चाहता था कि सऊदी कश्मीर मुद्दे पर भारत के खिलाफ उसके साथ खड़ा रहे लेकिन सऊदी के ऐसा नहीं करने पर पाक ने सऊदी अरब के नेतृत्व वाले संगठन इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) को सख्त चेतावनी दी थी। जिसके बाद दोनों देशों की दोस्ती खत्म हो गई है।

यह भी पढ़े: हमारी सुंदरता को करती है प्रभावित होंठो पर होने वाली झुर्रियां
यह भी पढ़े: घबराहट की परेशानी इन घरेलू उपाय से की जा सकती है दूर