हरसिमरत कौर बादल के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने की राष्ट्रपति से मुलाकात

किसान मुद्दे पर शिरोमणि अकाली दल (SAD) की नेता हरसिमरत कौर बादल के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने आज शनिवार 31 जुलाई को राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द से राष्ट्रपति भवन में मुलाकात की।

राष्ट्रपति के पास गए इस प्रतिनिधिमंडल में शिरोमणि अकाली दल (SAD) की नेता हरसिमरत कौर बादल के साथ बहुजन समाज पार्टी (BSP), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) और जम्मू-कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस (JKNC) के सदस्यों ने भी शिरकत की।

राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद अन्य विपक्षी दलों पर आरोप लगाते हुए शिरोमणि अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर ने कहा, “मैंने एक साथ मुद्दों को उठाने के लिए कांग्रेस, टीएमसी और डीएमके के नेताओं से संपर्क किया। लेकिन यह दुख की बात है कि आज किसी ने दिखाने की जहमत नहीं उठाई। जब तक विपक्ष एकजुट नहीं होगा, सरकार को फायदा होता रहेगा।”

ज्ञात हो कि जबसे (19 जुलाई से) संसद का मॉनसून सत्र प्रारंभ हुआ है तबसे शिरोमणि अकाली दल (SAD) के विभिन्न नेता और सांसद, संसद के बाहर तख्तियां लेकर किसानों के मुद्दों को उठाने का प्रयास कर रहे हैं। SAD नेताओं की मांग है कि केंद्र सरकार को किसान नेताओं की मांग को मानते हुए तीन कृषि कानूनों को रद्द कर देना चाहिए।

चूंकि पेगासस जासूसी मुद्दे को लेकर संसद की कार्रवाई ठीक से चलने नहीं पा रही है, इसलिए कृषि कानून के विरोध आदि मुद्दों को सदन में उठाने का मौका नहीं मिल पा रहा है। उधर किसान नेता भी सीमित संख्या (200) होने के कारण अपने आंदोलन से ज्यादा प्रभाव नहीं बना पा रहे हैं।

ज्ञात हो कि कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार और किसान नेताओं ने अड़ियल रुख अपना रखा है। एक तरफ किसान नेता कानूनों को रद्द करने पर अड़े हैं, तो दूसरी तरफ केंद्र सरकार कानून को रद्द न करने पर अड़ी हुई है। इस अड़ियल रुख के कारण दोनों पक्षों की वार्ता नहीं हो पा रही है।

यह भी पढ़ें:

लेडी डॉन अनुराधा को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार