दिल्ली के परिवहन मंत्री ने सड़क सुरक्षा में सुधार के लिए ‘सामरिक शहरीकरण परीक्षण’ का उद्घाटन किया

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने सड़क सुरक्षा में सुधार के लिए ‘सामरिक शहरीकरण परीक्षण’ का उद्घाटन किया।मंगलवार को राजघाट पर सामरिक शहरीकरण परीक्षणों के उद्घाटन के बाद पत्रकारों से बात करते हुए, गहलोत ने कहा, “हमने 20 स्थानों को ध्यान में रखा है। इन स्थानों पर घातक दुर्घटनाओं का मामला है।

जब पैदल यात्री, साइकिल चालक सड़क पार करते हैं, तो उन्हें डर लगता है। इसलिए, इस पर हमारी कई बैठकें हुईं। यह एक परीक्षण प्रक्रिया है। अगर यह ठीक रहा, तो हम इसे दिल्ली में 20 अलग-अलग स्थानों पर लॉन्च करेंगे।”

मंत्री ने कहा, “इस पहल का उद्देश्य सड़क सुरक्षा में सुधार करना है। इस तरह की पहल से राष्ट्रीय राजधानी में घातक दुर्घटनाओं की संख्या में कमी आएगी।”उन्होंने कहा कि टैक्टिकल अर्बनिज्म (टीयू) परीक्षण अस्थायी, त्वरित और अपेक्षाकृत कम लागत वाले हस्तक्षेप हैं, जो सड़क सुरक्षा में सुधार के लिए शहरी डिजाइन, परिवहन योजना और ढांचागत परिवर्तनों का परीक्षण करते हैं।

गहलोत ने ऑटो चालकों और बाइकर्स के साथ भी बातचीत की और उनसे राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण कम करने के लिए दिल्ली सरकार के “रेड लाइट ऑन, गाडी ऑफ” अभियान के तहत ट्रैफिक सिग्नल के लाल होने पर अपने वाहनों को बंद करने का अनुरोध किया।

यह पढ़े: बकाया मजदूरी मांगने पर उसके मालिक ने एक मजदूर का हाथ काटा, 3 लोग गिरफ्तार