Delhi University के हिंदू कॉलेज में चिदंबरम, मनोज झा का कार्यक्रम रद्द होने पर मचा बवाल

दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज विवाद के बाद एक नया हंगामा खड़ा हो गया है. दरअसल, हिंदू कॉलेज के कॉकस डिस्कशन फोरम के तहत 18 और 19 अप्रैल को एक चर्चा कार्यक्रम रखा गया था. इसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम, आरजेडी सांसद और प्रोफेसर मनोज झा समेत कई लोगों को बतौर वक्ता कार्यक्रम के लिए आमंत्रण भेजा गया था. अब कॉलेज के डिस्कशन फोरम की तरफ से आमंत्रण को रद्द कर दिया गया है.

चिदंबरम ने कह, ‘कार्यक्रम रद्द करने की असल वजह बताएं’
दरअसल आमंत्रण को रद्द करने लिए भेजे गए मेल में कोविड गाइडलाइंस का हवाला दिया दिया गया था. हालांकि इस मेल के जवाब में पी चिदंबरम ने कहा कि ‘मुझे निराशा हुई है. उम्मीद करता हूं कि एक दिन आप आमंत्रण रद्द करने की सही वजह मुझे जरूर बताएंगे.’

मनोज झा ने भी कहा, संवाद होते रहना चाहिए
आरजेडी सांसद मनोज झा ने डिस्कशन फोरम के इस कदम पर ट्वीट कर चिंता जताई है. प्रोफेसर मनोज झा के मुताबिक, उनके कॉलेज में जो चल रहा है उसने उन्हें असहज कर दिया है. उन्होंने कहा कि वैचारिक मतभेदों के बीच संवाद परंपरा कायम रहनी चाहिए. उनका कहना था कि कार्यक्रम से महज कुछ दिन पहले उन्हें सूचना दी गई कि ‘नेचर ऑफ प्रोग्राम’ में बदलाव किया गया है.

लेडी श्रीराम कॉलेज में रद्द हुआ था बीजेपी नेता का कार्यक्रम
बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही डीयू के लेडी श्रीराम कॉलेज के कार्यक्रम में बीजेपी नेता गुरु प्रकाश पासवान का निमंत्रण रद्द होने पर विवाद हुआ था. दरअसल 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती के मौके पर “संविधान से परे अंबेडकर” पर चर्चा होनी थी. कार्यक्रम के एक दिन पहले ही उनका आमंत्रण रद्द करने की सूचना दी गई थी. इस पर बीजेपी नेता गुरु प्रकाश ने वहां की स्टूडेंट यूनियन एसएफआई और कम्युनिस्ट पार्टी पर दलितों की उपेक्षा का आरोप लगाया था. गुरु का कहना था कि तानाशाही रवैये वाले ये लोग दलितों को सुनना नही चाहते हैं. 14 अप्रैल के कार्यक्रम को लेकर एसएफआई ने बीजेपी प्रवक्ता के कार्यक्रम में शामिल होने को लेकर विरोध जताया था.

यह भी पढ़ें:

CNG-PNG की कीमतों में इजाफा, लखनऊ में सीएनजी का दाम डीजल से हुआ अधिक; चेक करें लेटेस्ट रेट्स