Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / रविदास मंदिर को तोड़ने पर बोलीं प्रीता हरित – धैर्य रखें कोई न कोई हल ज़रूर निकलेगा

रविदास मंदिर को तोड़ने पर बोलीं प्रीता हरित – धैर्य रखें कोई न कोई हल ज़रूर निकलेगा

दिल्ली के तुगलकाबाद गांव में सतगुरू रविदास मंदिर को सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशानुसार तोड़ने की कारर्वाई पर प्रीता हरित (IRS) का कहना है कि मंदिर तोड़ने की कार्रवाई से देश के लाखों करोड़ों सतगुरु रविदास महाराज के अनुयायियों के हृदय को ठेस पहुँची है और दलित समाज की धार्मिक भावनाओं पर आघात हुआ है।

उन्होंने यह भी कहा कि वर्तमान परिस्थिति की नज़ाकत को देखते हुए मैं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से निजी तौर पर हस्तक्षेप करने का अनुरोध करती हूँ।

Loading...

प्रीता हरित ने कहा – मैं सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर टिप्पणी नहीं करना चाहती पर निजी तौर पर ऐतिहासिक महत्व के ऐसे स्मारकों और स्थलों के तोड़े जाने के पक्ष में मैं नहीं हूँ क्योंकि इनसे समुदायों की गहरी भावनाएं जुड़ी होती हैं।

मेरा दलित बहुजन समाज के सभी सम्मानित सदस्यों से अनुरोध है कि मामले को बढ़ावा न देते हुए सरकार से मसले पर पुनर्विचार करने की बात पर ज़ोर डालें।

साथ ही मैं अपने समाज के सभी लोगों को एक बात याद दिलाना चाहती हूँ कि बाबा साहब के सच्चे अनुयायी हिंसात्मक प्रदर्शन, हिंसा, तोड़ फोड़ करके क़ानून को अपने हाथों में नहीं लेते। समाज की, जीवन की हर समस्या का समाधान सकारात्मक सोच के साथ, क़ानून व्यवस्था के दायरे में रहकर निकाला जा सकता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *