डायबिटीज के मरीज मेथी को करें अपनी डाइट में शामिल, मिलेंगे कई लाभ

स्वस्थ रहने के लिए सबसे जरूरी हेल्दी डाइट और लाइफस्टाइल फॉलो करना होता है। लेकिन आजकल लोग अनहेल्दी और जंक फूड्स अधिक खाने लगे हैं। जिसके कारण कई स्वास्थ्य समस्याएं होने लगी है। ऐसे में आप अपनी डाइट में यदि मेथी शामिल करते हैं तो आपको कई स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। मेथी में एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर, कार्ब्स, प्रोटीन, लो कैलोरी और फैट्स के अलावा और भी बहुत से पोषक तत्व मौजूद होते हैं। यही कारण है कि मेथी डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है। मेथी के और भी बहुत से फायदे होते हैं-

डायबिटीज के लिए: मेथी में फाइबर आंत में एक मोटी और चिपचिपा जेल बनाता है, जिससे अतिरिक्त शुगर और बैड फैट्स को पचाने में मुश्किल होती है। टाइप 2 डायबिटीज वाले लोगों के दो समूहों पर एक अध्ययन किया गया था। जो समूह दिन में दो बार मेथी पाउडर का सेवन करते थे, उनके डायबिटीज के लक्षणों में महत्वपूर्ण सुधार देखा गया।

वजन कम करने के लिए: मेथी में उच्च मात्रा में फाइबर मौजूद होता है जो पेट को लंबे समय तक भरा रखने में मदद करता है जिससे आपकी भूख कंट्रोल होती है और आपको अनहेल्दी चीजें खाने की भी क्रेविंग नहीं होती है। एक अध्ययन में पाया गया है, जो लोग मेथी की चाय पीते हैं उन्हें दूसरों की तुलना में कम भूख लगती है। इसके अलावा यह शरीर के फैट को भी बर्न करने में मदद करता है।

कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने के लिए: मेथी के बीज टोटल कोलेस्ट्रॉल और एलडीएल(बैड कोलेस्ट्रॉल) को कम करते हैं। वे स्टेरॉइडल सैपोनिन्स के समृद्ध स्रोत हैं जो कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स के अवशोषण को रोकते हैं। इस तरह, बीज लीवर में कोलेस्ट्रॉल के उत्पादन को हतोत्साहित करते हैं।

पेट के लिए: मेथी पाचन में सुधार करती है और पेट की बीमारियों को रोकने में मदद करती है। मेथी में म्यूसिलेज मौजूद होता है जो कब्ज या दस्त जैसी समस्याओं को बेहतर करने में मदद करता है। मेथी का बीज म्यूकस मेम्ब्रेन को सॉफ्ट करता है जिससे कब्ज की समस्या दूर होती है। इसके अलावा मेथी पाचन संबंधित समस्याओं के लिए फायदेमंद है।

यह भी पढ़े-

हाई यूरिक एसिड के मरीज भूल कर भी न खाएं मूंगफली, जानिये कौन-सी चीजें खाने से होती है मनाही