डायबिटीज के मरीज सही मात्रा में डाइट में शामिल करें नीम का रस, अधिक पीना हो सकता है खतरनाक

हाई ब्लड शुगर लेवल को हम डायबिटीज़ यानी मधुमेह के नाम से जानते हैं। अगर आपको डायबिटीज है तो इसका मतलब है कि आपका अग्न्याशय अब आपकी ज़रूरत के इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता है। इसका मतलब है कि आपको नियमित रूप से अपने ब्लड शुगर के स्तर पर निगरानी रखने की जरूरत है। डायबिटीज के मरीजों को अपनी डाइट का खास ध्यान रखने की जरूरत है। बहुत से लोग घरेलू उपचारों की मदद से इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए लोग नीम का रस पीते हैं, लेकिन कितनी मात्रा में पीना है इसकी जानकारी होनी चाहिए, वरना नुकसानदायक हो सकता है। आइए जानते हैं डायबिटीज के मरीजों को कितनी मात्रा में नीम का रस पीना चाहिए-

कितनी मात्रा में पिएं नीम का पानी: डायबिटीज के मरीजों को नीम की पत्तियों के रस का सेवन प्रतिद‍िन 2 मिली ग्राम तक पीना चा‍ह‍िए। इसे लेने से पहले एक बार डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें। यह आपके डायबिटीज के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। साथ ही डायबिटीज के लक्षणों को भी कम करने में मदद करेगा। परंतु अधिक रस पीने के नुकसान भी हो सकते हैं। तय मात्रा से अधिक नीम का रस पीने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है।

नीम का रस कैसे है लाभकारी: अगर आप डाइबिटिक हैं तो आप रोज नीम का जूस पी सकते हैं या फिर केवल नीम की पत्तियां भी चबा सकते हैं। नीम की पत्तियां ग्लाइकोसाइड्स और एंटी वायरल गुणों से भरपूर होती हैं, जो आपका ब्लड शुगर लेवल संतुलित करने में आपकी मदद करती हैं। टाइप 2 डायबिटीज होने पर शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए नीम एक प्राकृतिक उपचार है। डायबिटीज के मरीजों को सुबह खाली पेट नीम की पत्तियों को चबाकर खाना चाहिए।

डायबिटीज के मरीज इन टिप्स को फॉलो करें:
हेल्दी डाइट फॉलो करें। अधिक मीठा खाने से परहेज करें।
रोजाना एक्सरसाइज या फिर योग जरूर करें। एरोबिक व्यायाम करना भी फायदेमंद साबित हो सकता है।
मोटापा भी डायबिटीज बढ़ने की संभावनाओं को बढ़ाता है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को अपना वजन कंट्रोल में रखना चाहिए।

यह भी पढ़े-

Diabetes के मरीजों के लिए रामबाण मानी जाती है भिंडी, ये सब्जियां खाना भी फायदेमंद