इन बातों का अवश्य रखें ध्यान अपने फेफड़े को स्वस्थ रखने के लिए

फेफड़े शरीर का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसमें समस्या होने पर सांस लेने में बहुत मुश्किल होती है। इसके कारण अस्थमा की बीमारी होने का खतरा बहुत बढ़ जाता है इसलिए इसका स्वस्थ रहना बहुत आवश्यक है। प्रदूषण के कारण यह गंभीर समस्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है। यह बीमारी अत्यधिक जानलेवा भी हो सकती है। इस के होने पर जरा सा काम करने पर सांस फूलने लगती है। आज हम आपको यहाँ बताएंगे कि आखिर किन कारणों से यह गंभीर बीमारी बढ़ती जा रही है और आपको किन चीजों से दूर रहना चाहिए।

बढ़ता हुआ प्रदूषण
फेफड़ो के खराब होने का कारण बढ़ता हुआ प्रदूषण है। इससे अस्थमा जैसी गंभीर बीमारी के चांस बढ़ जाते हैं और सांस फूलने लगती है। जिन लोगों को धूल, धुआं, पालतू जानवरों से एलर्जी हो उन्हें खास करके अपना बहुत ही विशेष ध्यान रखना चाहिए।

तंबाकू का सेवन
तंबाकू के सेवन से भी फेफड़ो के कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। इसका सेवन करने वाले 10 में से 9 लोगों में यह समस्या देखी जा रही है। फेफड़ो को स्वस्थ रखने के लिए तंबाकू जैसी नशे से दूर रहना चाहिए।

एलर्जी के कारण
फेफड़ो के खराब होने का कारण एलर्जी भी हो सकती है। यह एलर्जी परफ्यूम, रुई के बारीक रेशों, आटे की धूल, कागज की धूल, कुछ फूलों के पराग, पशुओं के बालों आदि से हो सकती है। जिन लोगों को बहुत जल्दी एलर्जी होती है उन्हें इन चीजों से दूर रहना चाहिए।

पटाखों का धुआं
पटाखों के जलने से होने वाला धुआं सेहत के लिए बहुत हानिकारक होता है। इसमें ऐसे रसायन और टॉक्सिक सीधा असर फेफड़ों पर होता है। छोटे बच्चों और अस्थमा के रोगियों को इसके धुएं से दूर रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें-

हो जायेंगे हैरान करेले खाने के ये फायदे जानकर