पीरियड्स के दौरान भूलकर भी न करें लापरवाही

माहवारी के दौरान महिलाओं के संक्रमित होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। अगर इस दौरान वह अपनी सेहत का सही तरह से ध्यान न रखें तो इससे उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कभी-कभी जाने अनजाने वे कुछ ऐसी लापरवाही कर बैठती हैं, जिसका हर्जाना उन्हें बाद में भुगतना पड़ता है। तो चलिए जानते हैं उन लापरवाहियों के बारे में-

  • समय समय पर अपने पैड को बदलती रहें। लंबे समय तक नमी और गर्मी में रहने के कारण जीवाणुओं की संख्या बढ़ने लगती है, जिस वजह से यूरिनरी ट्रैक्ट इंफैक्शन, वजाइनल इंफैक्शन और स्किन पर रैशेज नजर होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • अपने पीरियडस के हिसाब से सही सैनिटरी नैपकिन चुनें। ज्यादातर पीरियड्स के शुरूआती दिनों में तेज फ्लो होता है। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो लॉन्ग व एक्सट्रा एब्ज़ॉर्पशन वाले नैपकिन का इस्तेमाल करें। अगर फ्लो हल्का है तो सामान्य नैपकिन यूज करें।
  • अगर रैशेज बहुत ज्यादा है तो जेनिटल एरिया को ड्राई और इंफैक्शन मुक्त रखने के लिए मेडिकेटेड पाउडर का इस्तेमाल करें। इसको इस्तेमाल करने से पहले गायनिकोलॉजिस्ट की सलाह जरूर लें।