ऑफिस टूर में न आने दे इन छोटी-छोटी समस्याओं को

कुछ लोगों का वर्क नेचर ऐसा होता है जिस वजह से उन्हें हर महीने, कई बार तो हफ्ते-हफ्ते में ट्रैवलिंग करनी पड़ती है। लेकिन इससे समस्या ये आती है कि वे बार-बार बीमार पड़ जाते हैं। जाहिर है जब आपने यही जाॅब चुनी है, तो करियर तो चेंज किया नहीं जा सकता।

हां, खुद को ट्रैवलिंग के अनुसार बदला जरूर जा सकता है। इसके लिए खुद को स्ट्राॅन्ग बनाना होगा। साथ ही कुछ सावधानियां भी बरतनी होंगी। जानिए, इनके बारे में-

-लोग बाहर से खाना खाते हैं, लेकिन वे इस स्वच्छता का खयाल नहीं रखते। इस वजह से बार-बार तबियत खराब होती है। इसे बंद करें।
-कई लोग जूस पीना पसंद करते हैं, लेकिन यह भी सुरक्षित नहीं होता। जूस के गिलास सही प्रकार से धोए नहीं जाते, जिससे कई प्रकार का संक्रमण हो सकता है।

-अगर खाना गर्म है, तो इंफेक्शन होने की आशंका कम होगी। ठंडे भोजन से डायरिया, टायफाइट और फूड प्वाइंजनिंग हो सकती है।
-अगर मौसम बदल रहा है, तो बाहर का नॉन वेज न खाएं। अगर खाना भी हो तो इस बात का खयाल रखा जाना चाहिए कि वह ताजा बना हो।
-बेहतर होगा किसी नामी-गिरामी होटल में ही खाएं। ट्रैवलिंग के दौरान स्ट्रीट फूड कतई न खाएं।
-अगर आप नहीं जानते हैं कि वहां का बेहतर रेस्टोरेंट कौन सा है तो किसी लोकल लोगों से पूछ लें।
-ट्रैवलिंग के दौरान अपने साथ सामान भी कम कैरी करें। वरना ज्यादा सामान कैरी करने से कंधे में दर्द की समस्या पैदा सकती है।