नियमित रूप से करें सूर्य नमस्कार, मिलते हैं यह फायदे

यह तो हम सभी जानते हैं कि योगा स्वस्थ रहने का एक आसान व प्रभावशाली उपाय है। लेकिन ऐसे कई लोग होते हैं, जिन्हें योगा करने का समय ही नहीं मिलता या फिर वह सभी योगासन नहीं कर पाते। ऐसे में आप सूर्य नमस्कार का अभ्यास करें। इसे करने में अधिक समय भी नहीं लगता और यह शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य दोनों के लिए अच्छा माना गया है। तो चलिए जानते हैं सूर्य नमस्कार से होने वाले कुछ स्वास्थ्य लाभों के बारे में-

जिस तरह नहाकर व्यक्ति खुद को बाहरी तौर पर स्वच्छ करता है, ठीक उसी प्रकार सूर्य नमस्कार शरीर को भीतर से साफ करने का कार्य करता है। यह शरीर में ब्‍लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है। इससे शरीर में हॉर्मोन्स को संतुलित करने और कोलेस्ट्रॉल के स्त‍र को कम करने में लाभ मिलता है।

सूर्य नमस्कार स्किन पर ग्लो लाने का काम करता है। जब त्वचा डिटाॅक्स होती है तो उसका असर बाहरी त्वचा पर भी नजर आता है। इतना ही नहीं, इससे झुर्रियां या फाइन लाइन्स भी जल्द नजर नहीं आती।

सूर्य नमस्कार शरीर में एक नई उर्जा का संचार करता है, जिससे व्यक्ति को पूरा दिन एक फ्रेशनेस का अहसास होता है। इतना ही नहीं, सूर्य नमस्कार के नियमित अभ्यास से व्यक्ति को आलस्य या थकान की अनुभूति नहीं होती।

सूर्य नमस्कार मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी काफी अच्छा व्यायाम है। यह व्यक्ति के भीतर तनाव को नियंत्रित करने में मदद करता है। साथ ही इसका अभ्यास करने वाले व्यक्ति की याददाश्त बेहतर होती है। ऐसे व्यक्ति किसी भी चीज में अधिक एकाग्र हो सकते हैं। उनके बे्रन सेल्स एक्टिव हो जाते हैं।

सूर्य नमस्कार का अभ्यास करने का सबसे बेहतर समय होता है सुबह के समय, सूर्य उगने से पहले लगभग सुबह 6 बजे। इसका अभ्यास दिन के किसी भी समय किया जा सकता है, लेकिन इसका अभ्यास शुरू करने से पहले खाली पेट होना चाहिये।