कही आप भी impotence से परेशान तो नहीं

वैज्ञानिकों का यह कहना है कि यह शरीर आपका है और उसमें कमियों को महसूस भी आप ही को करना होगा। शरीर का हर अंग बहुत ही ज़रूरी होता है। हर बीमारी को लेकर जैसे हम खुलकर बात करते हैं वैसे ही अपने गुप्तांगों में किसी समस्या को लेकर भी शर्मिंदगी नहीं सतर्क रहने की जरुरत है|

दुनिया भर में लाखों लोग नपुंसकता या नामर्दी से बुरी तरह जूझ रहे हैं। कई बार यह हमेशा के लिए नहीं होता है और कुछ लोगों को इसका सामना छोटे वक़्त के लिए भी करना पड़ता है। क्या आपको पता है कि पुरुषों में नपुंसकता के पीछे क्या कारण हैं?

नपुंसकता ज़्यादा उम्र के लोगों के लिए एक सामान्य समस्या है। हालांकि इसकी चपेट में युवा भी आ जाते हैं। ब्रिटेन के नेशनल हेल्थ सर्विस के एक अनुमान के मुताबिक 40 से 70 की उम्र वाले आधे से ज़्यादा लोग कुछ हद तक इससे पीड़ित रहते हैं। नपुसंकता के मामलों को देखने वाले एक शख्स ने बताया हैं।

उन्होंने बताया, ”मैं पिछले 16 सालों से इन मामलों को देख रही हूं। ख़ासकर पिछले पांच सालों में युवाओं में ऐसी शिकायतें बढ़ी हैं। ज़्यादा उम्र वाले लोगों की नपुंसकता का संबंध डायबिटिज या हृदय रोग से है। युवाओं में ऐसी कोई बीमारी नहीं होती है। यदि युवा हमारे पास आते हैं तो हमलोग उनसे हमेशा कुछ सवाल पूछते हैं। ये सवाल हस्तमैथुन की लत और पॉर्नोग्राफ़ी से जुड़े होते हैं। अपनी पार्टनर के सामने लाचार होने की एक बड़ी वजह ये हो सकती हैं।”

इस स्टडी में सभी देशों के औसत 50 फ़ीसदी लोगों का मानना था कि नपुंसकता की वजह मनोवैज्ञानिक है। यह सच है कि नामर्दी में तनाव, पार्टनर से समस्या, चिंता और अवसाद के साथ दिमाग़ी फितूर की बड़ी भूमिका होती है।

ब्रिटेन के हेल्थ सिस्टम का कहना है, ”उदाहरण के तौर पर हस्तमैथुन के वक़्त आपको कोई समस्या नहीं होती है। कई बार जब आप बिस्तर से उठते हैं तब भी आप ठीक होते हैं, लेकिन जब सेक्स पार्टनर के पास जाते हैं तो ख़ुद को लाचार पाते हैं।”

Loading...