कहीं आप भी तो नहीं करते लेग प्रेस के दौरान ये गलतियां

आजकल लोग खुद को फिट रखने के लिए जिम का सहारा लेते हैं। वहां पर आप अपनी बाॅडी के हर पार्ट के लिए अलग से आसानी से एक्सरसाइज कर सकते हैं। ऐसी ही एक एक्सरसाइज है लेग प्रेस। इसकी मदद से आप अपने पैरों को टोन्ड करने के साथ-साथ उसकी स्टेंथ भी बढ़ाते हैं। लेकिन अक्सर देखने में आता है कि लोग लेगप्रेस के दौरान कुछ गलतियां करते हैं, जिसके कारण उन्हें फायदा कम और नुकसान ज्यादा उठाना पड़ता है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

इंडियन फिटनेस जंकी के फिटनेस कोच आयुष सेठी बताते हैं कि लेगप्रेस के दौरान सिर्फ वेट या रिपीटेशन पर ही ध्यान देना आवश्यक नहीं होता, बल्कि आपकी ब्रीदिंग भी आपकी एक्सरसाइज को प्रभावित करती है। हमेशा लेग प्रेस के दौरान जब आप उपर की तरफ पुश करते हैं तो आपको सांसों को बाहर की तरफ छोड़ना होता है, जबकि जब आप पैरों को अपने नजदीक लाते हैं तो उस समय ब्रीद इन करें।

वहीं फिटनेस कोच आयुष सेठी के अनुसार, लेगप्रेस करते समय हमेशा दोनों पैरों को एकसमान रखना होता है। इस दौरान आपके पैर शोल्डर लेवल पर होने चाहिए, अन्यथा इंजरी होने का खतरा बना रहता है।

अमूमन देखने में आता है कि कुछ लोग लेग प्रेस करते समय पैरों को बिल्कुल नीचे तक लाते हैं। लेगप्रेस करने का यह तरीका बिल्कुल गलत है। हमेशा आपको हाफ लेग प्रेस करना चाहिए। जब आप पैरों को बिल्कुल छाती से टच करते हैं तो इससे आपके घुटनों पर जोर पड़ता है और आपको घुटनों में दर्द या क्रेम्प पड़ने की संभावना काफी बढ़ जाती है।

इसके अतिरिक्त लेग प्रेस करते समय आपको एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि यदि आप पहली बार यह व्यायाम कर रहे हैं तो किसी फिटनेस कोच की देख-रेख में ही इसे करें।

अगर आप भी पीते है सुबह खाली पेट चाय तो हो जाएं सावधान