क्या आप जानते हैं केला और दूध एक साथ खाने के फायदे हैं तो नुकसान भी हैं ?

हम बचपन से सुनते आये हैं की केला और दूध को साथ पिया जाए तो शरीर में एनर्जी बनी रहने के साथ हेल्थ भी बनती हैं। यह बात सच भी हैं लेकिन दोनों को किस तरह सेवन करना चाहिए इस पर भी आप ध्यान दे। क्युकी गलत सेवन करने से ये आपको नुकसान भी पंहुचा सकता हैं। ऐसे रखे ध्यान।

मिल्‍क शेक कभी बना के ना पिएं
आपको बनाना मिल्कशेक का सेवन भी नहीं करना चाहिए क्योंकि यह पाचन की प्रक्रिया में बाधा डालता है और आपके नींद के पैटर्न को बिगाड़ता है।

वजन बढ़ाना हो तो खाएं दूध केला
इसके विपरीत हमारे पोषण विशेषज्ञ और मैक्रोबायोटिक हेल्थ कोच कहते हैं, “केले और दूध का संयोजन बॉडी बिल्डर्स या ऐसे लोगों के लिए बहुत अच्छा विकल्प है जो अपना वज़न बढ़ाना चाहते हैं और जिन्हें अधिक तीव्रता वाले कामों के लिए उर्जा की आवश्यकता पड़ती है।

क्या कहता है आयुर्वेद?
जहाँ तक आयुर्वेद का सवाल है, प्रत्येक खाद्य पदार्थ का अपना स्वाद (रस), पाचन के बाद परिणाम (विपाका) और गर्म और ठंडी उर्जा (वीर्य) होता है। अत: किसी व्यक्ति अग्नि या गैस्ट्रिक आग से यह निर्धारित होता है कि भोजन कितने अच्छे से या खराब तरीके से पचता है और खाद्य पदार्थों का सही संयोजन बहुत आवश्यक है। आयर्वेद के मुताबिक केला और दूध सबसे असंगत खाद्य पदार्थों की सूची में आते हैं।

कई तरह की बीमारियां पनप सकती हैं
यह पाचन की अग्नि को बुझा देता है और आँतों में बाधा पहुंचाता है। इसके कारण जकड़न, सर्दी, खांसी, रैशेस और एलर्जी जैसी समस्याएं होती हैं। यह शरीर में नकारात्मक प्रतिक्रिया उत्पन्न करता है, अतिरिक्त पानी उत्पन्न करता है, शरीर के रास्तों को अवरुद्ध करता है, दिल की बीमारी की संभावना बढ़ाता है, इससे उल्टी और दस्त भी हो सकते हैं।

केले और दूध का सेवन करें या नहीं?
विशेषज्ञों के शोध मुताबिक, केले और दूध का एक साथ सेवन नहीं करना चाहिए और इससे स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान हो सकते हैं। अत: केले को दूध के साथ न मिलाएं और अच्छा होगा कि इनका अलग अलग सेवन करें। दोनों के अपने विशेष गुण हैं जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं; हालाँकि दोनों को मिला देने से ये गुण नष्ट हो जाते हैं और शरीर में बीमारी उत्पन्न करते हैं।

यह भी पढ़ें-

इस घरेलू नुस्खे से मुँह की बदबू मिट सकती है, जानिए कैसे ?