इन बीमारियों में नहीं पड़ेगी डाॅक्टर की आवश्यकता, बस प्रयोग करें पान के पत्ते

कई बार शाम के समय खाना खाने के बाद पान खाने का मन करता है और लोग टहलते हुए पान खाने चले जाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पान के पत्ते कई बीमारियों में बेहद काम आते हैं। इसे आयुर्वेदिक गुणों के कारण आप इन्हें दांतों की बीमारी से लेकर सर्दी जुकाम, सिरदर्द और थकान कमजोरी दूर करने में इस्तेमाल कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

जिन लोगों को दांत में दर्द या मसूड़ों की समस्या का सामना करना पड़ रहा है, उनके लिए पान के पत्ते बेहद फायदेमंद है। इस स्थिति में आप पान के पत्तों में दस ग्राम कपूर मिला लें। हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि पान के पत्ते हरे होने चाहिए पीले नहीं। अब इन पत्तों को खूब चबा-चबा कर खा जाएं। ये आपकी समस्या को दूर कर देंगे। ये पायरिया रोग में भी बहुत कारगर है।

कुछ लोगों को बढ़ती उम्र मंे जोड़ों में दर्द रहता है या फिर चोट लगने पर भी पान के पत्तों का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए पान के पत्ते को घी लगाकर तवे पर गर्म करना चाहिए और उसे गर्म गर्म ही चोट या दर्द वाली जगह पर सिकाई करनी चाहिए। इससे बहुत लाभ होता है।

जुकाम होने पर भी पान के पत्तों की मदद से राहत पाई जा सकती है। इसके लिए पान के पत्तों में लौंग डालकर खाएं। अगर ज्यादा कड़वा लगे तो आप इसमें धागे वाली मिश्री मिला सकते हैं।

सांस लेने में दिक्कत हो या सीने में जकड़न हो गई हो तो आप उसे घी या तेल लगे पान के पत्ते को गुनगुना सेंक कर सीने पर रखें। इससे कफ पिघल जाएगी और सीना हल्का होगा। इसके बाद सीने को किसी गर्म कपड़े से ढक कर ही रखें।

सुबह का नाश्ता है बहुत जरूरी, जानिए इसके फायदों के बारें में