ड्रैगन को आर्थिक रूप से पहुंचानी होगी चोट, नहीं तो युद्ध होगा आखिरी विकल्प- जनरल वीके सिंह

पूर्व सेनाध्यक्ष और मौजूदा सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने भारत और चीन सीमा विवाद पर अपने विचार रखे। एक निजी मीडिया संस्थान को इंटरव्यू देते हुए वीके सिंह ने कहा कि चीन की धोखेबाजी का एक ही विकल्प है और वो है युद्ध। लेकिन इसके अलावा भी कई तरीके है जिनसे चीन को सबक सिखाया जा सकता है। सिंह ने कहा कि चीन का आर्थिक रूप से बॉयकॉट करना एक अच्छा विकल्प है। जिससे दुश्मन देश कमजोर होगा।

वीके सिंह ने कहा कि भारतीय सीमा हमारे सैनिकों के नियंत्रण में ही है और वहां किसी भी प्रकार की घुसपैठ नहीं हुई है। दरअसल, चीन ने हमारे क्षेत्र में कब्जा जमाने के इरादे से अपने सैनिकों की संख्या बढ़ाने का प्रयास किया, जिसे भारतीय सैनिकों ने विफल कर दिया।

चीन की धोखेबाजी पर सबक सिखाने वाले सवाल का जवाब देते हुए सिंह ने कहा की हमें पहले चीनी सामानों का बहिष्कार करना होगा। जिसके तहत उसे आर्थिक रूप से चोट पहुचेंगी। सिंह ने कहा हमेशा युद्ध आखिरी विकल्प ही होता है। जब बाकी चीजें विफल हो जाती हैं, तब आप युद्ध का विकल्प चुनते हो।

यह भी पढ़े: ग्लेनमार्क ने लॉन्च की कोरोना की नई दवा, 34 टैबलेट के पत्ते की कीमत 3,500 रुपये
यह भी पढ़े: भारत-चीन संघर्ष पर बोले डोनाल्ड ट्रंप, कहा- सीमा संघर्ष समाधान की कर रहा हूं कोशिश