डीआरडीओ बना रहा एयर-लॉन्च मिसाइल, खूबियां देख चीन के छूटेंगे पसीने

भारत एक नई एयर-लॉन्च मिसाइल विकसित करने का प्रयास कर रहा हैं। यह मिसाइल 10 किमी से अधिक की स्टैंड-ऑफ दूरी से दुश्मन के टैंक को मार गिराने में सक्षम होगी। आने वाले दो महीने बाद इसका परीक्षण किया जाएगा। इसका निर्माण रक्षा अनुसंधान विकास संगठन द्वारा किया जा रहा हैं।

बुधवार को घटनाक्रम से संबंधित उच्च अधिकारियों ने बताया कि हफ्ते की शुरुआत में ही भारत ने स्वदेशी स्टैंड ऑफ एंटी-टैंक मिसाइल (सैंट) का सफल परीक्षण किया है। डीआरडीओ द्वारा भारतीय वायुसेना के लिए विकसित की जा रही इस मिसाइल को रूसी मूल के एमआई-35 हेलिकॉप्टर में जोड़ा जाएगा। जिसमें एक बेहतर स्टैंड-ऑफ रेंज से दुश्मन को नष्ट करने की क्षमता होगी। इस मिसाइल का पहले परीक्षण की तैयारियां शरू कर दी गई हैं।

एमआई-35 पर मौजूदा रूसी मूल की शटर्म मिसाइल पांच किमी की रेंज में टैंकों को निशाना बनाने की क्षमता रखती हैं। गनशिप के अन्य हथियारों में अलग-अलग कैलिबर के रॉकेट, 500 किलोग्राम के बम, 12.7 एमएम की बंदूकें और 23 एमएम की तोप शामिल हैं। इसे दिसंबर में पहली बार एमआई-35 हेलीकॉप्टर के गनशिप से लॉन्च किया जाएगा।प्रक्षेपण के बाद मिसाइल में लॉक-ऑन होगा और लॉन्च से पहले भी लॉक-ऑन होने की क्षमता होगी।

यह भी पढ़े: ई-कॉमर्स कंपनियों ने 5 दिन की सेल में बेच दिए 22 हजार करोड़ रुपये के सामान
यह भी पढ़े: जो खुद को कोरोना से नहीं बचा पाया, वो अचानक हमें कैसे बचाएगा: बराक ओबामा