सही समय और उचित मात्रा में ही पीएं ग्रीन-टी

ऐसे कई लोग है जो अच्छी त्वचा और पाचन की प्रक्रिया में सुधार लाना चाहते हैं, ऊर्जावान और स्वस्थ बने रहना चाहते हैं, ते हैं, वे सभी ग्रीन टी का सेवन भी करते हैं। ग्रीन-टी शरीर की फिटनेस ही नहीं सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट शरीर का मोटापा कम करने में बहुत ही ज्यादा मदद करते हैं

लेकिन कुछ लोग जल्दी पतले होने की चाह में दिन में कई बार इसका सेवन कर लेते हैं जिससे शरीर को बहुत ज्यादा नुकसान भी हो सकता है। इससे शरीर में आयरन की कमी हो जाती है और पेट की भी कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। इसके लिए ग्रीन-टी सही समय और उचित मात्रा में पीएं जिससे सेहत को बहुत ज्यादा फायदा मिले।

ग्रीन-टी से शरीर को फायदा पहुंचाने के लिए इसको सही समय पर पीना बहुत जरूरी है। भोजन करने से 1 या 2 घंटे पहले ग्रीन-टी का सेवन करें।

ग्रीन-टी पीने से मोटापा कम होता है इसलिए कई लोग इसे खाली पेट पीना पसंद करते हैं जिससे चर्बी जल्दी कम हो लेकिन खाली पेट पीने से काफी नुकसान होता है। इसमें कैफिन होता है जिसे खाली पेट पीने से आंतों की कई समस्याएं हो जाती हैं।

कुछ लोग ग्रीन-टी को आम चाय की तरह बना कर पीते हैं। इसमें दूध और शक्कर डालकर पीने से शरीर को कोई फायदा नहीं होता और न ही मोटापा कम होता है। इसके लिए हमेशा गर्म पानी का ही इस्तेमाल करें।

जिस तरह गर्म पानी में शहद मिलाकर पीने से वजन कम होता है उसी तरह ग्रीन-टी में भी शहद मिलाकर पीएं। ग्रीन-टी से पेट की पाचन शक्ति ठीक रहती है और शहद से पेट की चर्बी जल्दी कम होती है। ऐसे में इन दोनों का साथ में सेवन करने से काफी फायदा होता है।

खाने के तुरंत बाद कभी भी ग्रीन-टी का सेवन न करें। इसके अलावा दिन में कम से कम 2-3 कप ग्रीन-टी ही पीएं। इसके अधिक सेवन से लीवर को नुकसान होता है।