गर्भावस्था में जीरे का पानी पीना स्वास्थ्य के लिए होता है बहुत फायदेमंद

जैसा की हम सभी जानते है की जीरे का इस्तेमाल सब्जी में तड़के के लिए किया जाता है और यह हर रसोई में बहुत ही आराम से मिल जाता है। जीरे में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ‘सी’ व ‘ए’ की मात्रा बहुत अधिक होती है। यही कारण है कि महिलाएं अगर अपनी प्रेगनेंसी के दौरान नियमित रूप से जीरे का पानी पिएं तो गर्भावस्था में बहुत राहत मिलती है। हालांकि इसे अपने रुटीन में शामिल करने से पहले एक बार अपनी डॉक्टर से अवश्य बात कर लें।

जीरे वाला पानी बनाने की विधि – कितनी भी मात्रा में जीरा लेकर उसे किसी भी मात्रा में पानी के साथ उबालकर पीने से कोई खास फायदा नहीं होता है। हम आपके साथ यहाँ शेयर कर रहे हैं जीरा पानी तैयार करने का विल्कुल सही तरीका। इसके लिए एक बड़ा चम्मच जीरा एक लीटर पानी में अच्छी तरह उबाल लें। लगभग 2 मिनट तक उसे उबलने दें। ठंडा होने पर किसी कांच के गिलास या कंटेनर में भरकर पूरी तरह रखें और दिनभर छोटी-छोटी सिप लेते रहें।

# गर्भवती और उसके अजन्मे बच्चे दोनों ही की सेहत के लिए जीरे का पानी बहुत बेहतरीन होता है। इससे मॉर्निंग सिकनेस में भी बहुत राहत मिलती है। शरीर में पानी की मात्रा पूरी तरह बनी रहती है।

# गर्भावस्था कै दौरान पेट में गैस बनना और एसिडिटी बहुत ही आम बात है। जीरे का पानी इन समस्याओं को कम करता है, जिससे खाना-पीना बहुत ही आसान हो जाता है।

# जीरे का पानी ब्लडप्रेशर को पूरी तरह नियंत्रित करता है। पूरे नौ महीने अगर आप नियमित रूप से ये पानी पिएंगी तो रक्तचाप बढ़ने-घटने जैसी समस्या बहुत कम ही होगी।

# गर्भ के दौरान महिलाओं को अक्सर खून की अत्यधिक कमी हो जाती है और उनका हीमोग्लोबिन भी बहुत कम हो जाता है।ऐसे में जीरे वाला पानी पीना उनके लिए बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि जीरे में भरपूर आयरन होता है।