Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / बढ़ती उम्र में वेट एएमडी का खतरा रहता है ज्यादा

बढ़ती उम्र में वेट एएमडी का खतरा रहता है ज्यादा

शरीर में फैट की ज्यादा मौजूदगी से कई तरह की बीमारियां होती हैं। खासकर मोटापा और दिल से जुड़ी समस्याओं का खतरा बहुत अधिक रहता है। कनाडा के वैज्ञानिकों ने फैट से आंखों में होने वाली गंभीर बीमारी का पता लगाया है।

इसकी वजह से आंखों की रोशनी भी जा सकती है। इसे वेट एज रिलेटेड मैक्युलर डीजेनरेशन (एएमडी) कहते हैं। मांट्रियल विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के मुताबिक, उत्तरी अमेरिका में इस बीमारी से एक करोड़ से ज्यादा लोग पीड़ित हैं। बढ़ती उम्र में इसका खतरा और ज्यादा रहता है।

Loading...

वैज्ञानिकों ने बताया कि फैट की अधिकता वाले आहार के सेवन से गट (आंत) बैक्टीरिया में बदलाव आता है। इसके चलते शरीर में दीर्घकालीन उत्तेजना की स्थिति उत्पन्न होती है। आगे चलकर यह वेट एएमडी में तब्दील हो जाता है। एएमडी दो तरह के होते हैं, ड्राई और वेट। ड्राई एएमडी की स्थिति में रेटिना का सेंटर क्षतिग्रस्त होने लगता है, जबकि वेट एएमडी में रेटिना के अंदर छिद्र वाली रक्त धमनियां विकसित होने लगती हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *