गर्मी में पसीना को सुखाना दे सकता है चर्म रोग को दावत

गर्मी में अगर पसीना शरीर में ही सूख जाए तो यह बड़ी दिक्कतें पै कर सकता है| पसीना आने पर कई सारे लोग इसे पोंछ देते हैं लेकिन, कुछ लोग इसे खुद से सूखने के लिए छोड़ देते हैं|

पसीना शरीर में ही सूख जाने से चर्मरोग की निम्नलिखित समस्याएँ होती हैं:-

👉 खुजली होने लगती है।

जब आपके पर पसीना काय पर जम जाता है तो उस परस्पर उड़ने वाले धूल का आकर बैठ जाते हैं जिससे कि हमारे शरीर में खुजली होने लगती है।

👉 घमौरियां हो जाती हैं।

गर्मी के मौसम में पसीने के रूप में हमारे शरीर से कई सारे एंटी एसीड बाहर की ओर निकलते हैं और जिनका बह जाना ही उचित होता है ये हानि कारक होते हैं ।

👉 स्किन के ऊपर धूल, मिटटी की परत बन्ने से स्किन डेड होने लगती है|

गर्मी के मौसम में पसीने बहुत तेज चलते हैं और साथ-साथ प्रदूषण के कारण हमारे शरीर में धूल चिपक जाते हैं इसलिए वह भी एक कारण हो सकते हैं।

👉 पसीना ठहर जाने की वजह से शरीर से बदबू आने लगती है।

हमने आपको पहले ही बताया कि हमारे शरीर से निकलने वाले पसीने से वह हानिकारक ऐसीड जो हमारे शरीर में जल की मात्रा में मौजूद होते । तो यह बाहर निकलते हैं तो अपने साथ कई तरह के हानिकारक तत्व लेकर निकलते हैं जाते हैं।