इन सारी आदतों के कारण दिमाग हो जाता है कमजोर

दिमाग को अगर पूरे शरीर की चाबी कहा जाए तो गलत नहीं होगा। यह न सिर्फ पूरे शरीर को काम करने के लिए संदेश भेजता है, बल्कि इसके कारण ही व्यक्ति चीजों को याद रख पाता है, अपना ध्यान एकाग्र कर पाता है आदि। लेकिन कई बार हमारी कुछ आदतें ही उसकी कार्यप्रणाली में बाधा उत्पन्न करती हैं। तो चलिए जानते हैं उसके बारे में-

खानपान जहां शरीर के लिए ईंधन का काम करता है, वहीं यह दिमाग के लिए भी उतना ही जरूरी है। खानपान को लेकर बरती गई लापरवाही दिमाग को कमजोर बनाती है। खासतौर से, सुबह के समय नाश्ता न करने से दिमाग सक्रिय नहीं रहता और आप ऑफिस में अपना बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाते। इसके अलावा अगर आपने लंच या डिनर में अधिक खा लिया तो आपका दिमाग उलझन में आ जाएगा।

धूम्रपान जहां कैंसर का कारण बनता है, वहीं यह दिमाग को भी कमजोर बनाता है। एक अध्ययन के अनुसार, धूम्रपान से कॉर्टेक्स पर असर पड़ता है जो आपकी यादाश्त शक्ति और लैंग्वेज स्किल्स के लिए खतरनाक है।

देर रात सोना या एक्सरसाइज न करना जैसी आदतें भी आपके दिमाग पर बुरा असर करती हैं।

वहीं तनाव भी हमारे पूरे शरीर का दुश्मन है। इसलिए इससे बचने की कोशिश करनी चाहिए। इसका सबसे बुरा असर दिमाग पर पड़ता है। जब हमें तनाव होता है, तब हमारी किडनी कॉर्टिसॉल नामक पैदा करती है। ज्यादा मात्रा में कॉर्टिसॉल के उत्पादन से दिमाग की कोशिकायें क्षतिग्रस्त हो सकती है।