इन बीमारियों के कारण भी समय से पहले सफेद हो जाते हैं बाल

पुराने समय में अक्सर बड़े-बूढ़े कहा करते थे कि यह बाल हमने धूप में सफेद नहीं किए हैं। इसका अर्थ यह होता था कि बालों की सफेदी उनकी उम्र और तर्जुबे का प्रतीक थी। लेकिन आज के समय में युवावस्था में ही लोगों के बाल सफेद हो जाते है। असमय बालों का सफेद होने का दोष आज की लाइफस्टाइल को दिया जा रहा है। माना जाता है कि बालों में सफेदी आने का सबसे बड़ा कारण तनाव, खान-पान की गलत आदतें व प्रदूषण है। ऐसे में लोग बालों के सफेद होने पर भी उसे नजरअंदाज करते हैं, लेकिन वास्तव में यह कुछ बीमारियों के भी संकेत हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

जिन लोगों को थायराइड संबंधी परेशानी होती है, अक्सर उनके बाल समय से पहले ही सफेद हो जाते हैं या फिर तेजी से झड़ने लगते हैं। अगर आपके बाल सफेद होने के साथ-साथ तनाव, कमजोरी, थकान, पेट में दर्द और वजन बढ़ना या घटने जैसे लक्षण दिखाई दें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

कभी-कभी हृदय रोग के कारण भी बाल असमय ही सफेद होने लगते हैं। अगर कम उम्र में आपके बाल सफेद होने लगे हैं तो एक बार डाॅक्टर से इस बारे में बात अवश्य करें।

स्कैल्प में फंगल इंफेक्शन की समस्या हो जाती है क्योंकि आप बालों की सही तरह से केयर नहीं करते। ऐसे में बाल असमय सफेद होने लगते है। ऐसे में आपको चेकअप करवाकर सही ट्रीटमेंट लेना चाहिए। साथ ही नियमित रूप से बालों की सफाई पर ध्यान देना चाहिए।

समय से पहले बाल सफेद हो रहे हैं तो यह शरीर में आयरन की कमी के कारण भी हो सकता है। खून की कमी के कारण शरीर के अधिकांश भागों में ऑक्सीजन की आपूर्ति कम हो जाती है, जिस वजह से भी बाल सफेद होते हैं।