महिलाएं इस वजहों से हो जाती है जल्दी बुढ़ापे का शिकार

अधेड़ उम्र की महिलाओं को अगर आराम करना पसंद है तो उन्हें सावधान हो जाना चाहिए क्योंकि ऐसी महिलाओं को बुढ़ापा बहुत तेजी से अपनी चपेट में लेता है। ऐसी महिलाएं जो दिन में 10 घंटे से ज्यादा समय तक कम शारीरिक मेहनत वाला कामकाज करती हैं उनकी कोशिकाएं जैविक रूप से आठ साल अधिक बूढ़ी हो जाती हैं। अमेरिका में सेन डिएगो स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने एक रिसर्च में यह बात कही है।

शोध में पाया कि ऐसी महिलाएं जो प्रतिदिन 40 मिनट से कम समय तक हल्की से भारी शारीरिक मेहनत का कार्य करती हैं उनके शरीर में टेलोमीरिज छोटे होते हैं। टेलोमीरिज गुणसूत्रों को नष्ट होने से बचाने वाले डीएनए स्ट्रेंड्स के अंतिम हिस्सों पर लगे बहुत छोटे-छोटे कैप होते हैं। उम्र बढ़ने के साथ ये तेजी से और छोटे होते जाते हैं। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है ये टेलोमीरिज प्राकृतिक रूप से छोटे और नाजुक होते जाते हैं लेकिन स्वास्थ्य और जीवनशैली जैसे कि मोटापा और धूम्रपान से यह प्रक्रिया और भी तेज हो जाती है।

लेकिन कसरत है कारगर : शोध टीम के प्रमुख  ने बताया, हमने पाया कि जो महिलाएं ज्यादा समय तक बैठी रहती हैं लेकिन अगर वे रोज कम से कम 30 मिनट तक कसरत करती हैं तो उनके टेलोमीरिज उतने छोटे नहीं होते।

इस अध्ययन के लिए 64 से 95 साल की लगभग 1500 महिलाओं पर शोध किया गया। जिसके बाद शोधकर्ताओं का कहना है कि अगर आराम-तलब जीवनशैली है तो कोशिकाएं बहुत तेजी से बूढ़ी होती हैं।

यह भी पढ़ें-

ऐसे करें दांतों की बीमारियों से बचने के लिए उनकी देखभाल