रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) को मजबूत बनाने के आसान व घरेलू तरीके

कोरोना वायरस ने मानव के अंदर मौजूद रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि इम्यूनिटी को निशाना बनाया है। कोरोना वायरस से ज्यादातर उन्हीं लोगों की मौत हो रही है जिनके अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है। आइये जानते हैं रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के आसान व घरेलू तरीके:-

तुलसी: जो व्यक्ति तुलसी के पत्ते का नित्य सेवन करता है वह अनेक रोगों से मुक्त रहता है। सामान्य रोग स्वत: दूर हो जाते हैं। सुबह 10 तुलसी के पत्ते और 5 काली मिर्च नित्य चबाएं। सर्दी , बुखार, श्वास रोग नहीं होगा तथा नाक स्वस्थ रहेगी।

आंवला: विटामिन-सी शरीर को रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करता है। विटामिन-सी सबसे ज्यादा आंवला में पाया जाता है। हरे पत्तेदार सब्जियों और कच्चे दूध में भी इसकी मात्रा अधिक है। किसी भी रूप में थोड़ा सा आंवला खाते रहने से जीवनभर उच्च रक्तचाप और हार्टफेल की संभावना बेहद कम हो जाती है।

गिलोय: गिलोय का नियमित रूप से सेवन करने से पाचन तंत्र ठीक रहता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ने के लिए गिलोय को रामबाण मन जाता है। गिलोय शरीर में खून के प्लेटलेट्स की गिनती को बढ़ाती है।

नीम: नीम के पत्ते खाने से शरीर में त्वचा रोगों , बुखार, फ्लू, जुकाम, उदर और यकृत के बचाव के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न हो जाती है।

सकारात्मक दृष्टिकोण: मन में ये सकारात्मक दृढ़ मान्यता रखने से शरीर स्वस्थ रहेगा। प्रसन्नता होने पर सभी दुखों और रोगों का नाश हो जाता है।