खाएं ये आयुर्वेदिक हर्ब्स अगर आप लंग कैंसर से छुटकारा पाना चाहते है

लंग कैंसर यानि फेफड़ों का कैंसर एक बहुत ही गंभीर जानलेवा बीमारी है। कतई जरूरी नहीं यह केवल स्मोकिंग करने वालों को ही होती है अगर आपके पास कोई स्मोकिंग करता है तो उसके धुएं से भी आप इसकी चपेट में आ सकते हैं। हालांकि यह गंभीर बीमारी अन्य कारणों की वजह से भी हो सकती है। स्‍मोकिंग छोड़ने के अलावा, लाइफस्‍टाइल में महत्वपूर्ण बदलाव और कुछ हर्ब्‍स को डाइट में शामिल करके आप लंग कैंसर के खतरे को बहुत हद तक कम कर सकते हैं। आइये आपको बताते हैं कुछ ऐसे ही हर्ब्स के बारे में, जो आपको लंग कैंसर के खतरे से बचाने में पूर्ण्तः मददगार होते हैं।

गिलोय

गिलोय सबसे बेहतरीन एंटीबायोटिक और एंटी-ऑक्‍सीडेंट हर्ब है, जो कैंसर की रोकथाम में भरपूर मदद करता है। प्रतिदिन इसका सेवन इम्यूनिटी को स्ट्रांग करता है, जिससे आपको कैंसर सैल्स से लड़ने में भरपूर मदद मिलती है।

मुलेठी

आपको बता दे की गले में खराश या खांसी ही नहीं, इसका सेवन लंग कैंसर के खतरे को भी बहुत हद तक कम करना है। मुलेठी के प्रयोग करने से न सिर्फ गले बल्कि पेट और लंग कैंसर के लिए भी अत्यधिक फायदेमंद होता है। प्रतिदिन थोड़ी-सी मात्रा में मुलेठी का सेवन सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

गुणकारी औषधि है तुलसी

तुलसी एक ऐसी औषधि है, जो हर तरह के कैंसर से आपका पूर्ण्तः बचाव करती है। एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होने के कारण इसका सेवन कैंसर को रोकने में भी अत्यधिक प्रभावी होता है। प्रतिदिन तुलसी के 5 पत्‍तों का सेवन कैंसर से बचाता और साथ ही इससे इम्‍यूनिटी भी स्‍ट्रॉग होती है।

लहसुन

लहसुन में ऐसे कई सारे गुणकारी तत्‍व मौजूद हैं जो आपको कई गंभीर बीमारियों से दूर रखते हैं। प्रतिदिन इसका सेवन करने से शरीर के अंदर उत्पन्न होने वाली कैंसर की कोशिकाएं खत्म हो जाती है और इससे फेफड़ें भी पूर्ण्तः स्वस्थ रहते हैं।

मुनक्‍का

आपको बता दे की मुनक्‍का के ताजे और साफ 15 दाने रात में 150 मिलीलिटर पानी में भिगो दें। सुबह बीज निकालकर फेंक दें। गूदे को खूब अच्‍छी तरह चबा-चबाकर खाएं। बचे हुए पानी को पी लें। प्रतिदिन इसका सेवन लंग कैंसर के खतरे को दूर रखता है।

यह भी पढ़ें-

सेहत को गर्म दूध में शहद मिलाकर पीने से मिलते हैं ये लाभ, जानिए