डिब्बा बंद non-veg खाने से हो सकती है अस्थमा की शिकायत

आज के समय में पैक्‍ड फूड खाना एक फैशन सा बन गया है। टाइम की कमी के कारण आजकल लोग पैक्‍ड फूड खाने लगे हैं। ये पैकेज्ड फूड किसी के लिए भी भूख मिटाने का सबसे आसान विकल्प हो सकता है। ज्यादातर मांसाहारी खाना पसंद करने वाले लोग पैक्ड फूड की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं। लेकिन इस तरह के प्रोसेस्ड मीट खाने से अस्थमा की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। हाल के दिनों में हुए एक रिसर्च ने इस बात का पूरी तरह दावा भी किया है।

  • अध्ययन में दावा किया गया है कि डिब्बाबंद प्रोसेस्ड मीट में नाइट्राइट की मात्रा बहुत ज़्यादा होती है जिससे सांस नली में सूजन भी हो सकती है। ये सूजन अस्थमा का प्रारंभिक लक्षण है। निष्कर्षों से पता चलता है कि ऐसे व्यक्ति, जो हफ्ते में चार या इससे अधिक बार डिब्बाबंद मांस का सेवन करते हैं, उनमें अस्थमा की समस्या के गंभीर होने का खतरा लगभग 76 फीसदी अधिक होता है। इससे सांस लेने में दिक्कत, सीने में जकड़न और दूसरी परेशानियां हो सकती हैं।
  • पेरिस के पॉल ब्रोउसे अस्पताल के जेन ली ने कहा कि यह रिसर्च प्रिसरवेटिव नॉनवेज के सेवन से हेल्थ पर पड़ने वाले हानिकारक प्रभाव और अस्थमा के एडल्‍ट पेशेंट्स में डायट के प्रभाव के बारे में बताता है। यह डायट से अस्थमा के जुड़े होने की भूमिका और बीएमआई के संदर्भ में एक नई एनालिटिकल एप्रोच भी देता है।
  • अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने लगभग 971 अस्थमा के वयस्क मरीजों (49 प्रतिशत पुरुष) पर परीक्षण भी किया। इन मरीजों से उनके द्वारा लिए जाने वाले आहार के संबंध में कई चरणों में प्रश्न भी पूछे गए। इन प्रश्नों में 46 खाद्य समूहों की 118 खाद्य सामग्रियों को पूरी तरह शामिल किया गया था।