पपीता खाने से हो सकता है गर्भपात का खतरा

फल खाना हमारे सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है फल खाने से हम पूरी तरह फिट और तंतुरस्त रहते है फल में विटामिन ,प्रोटीन बहुत ही भरपूर मात्रा में पाय जाता है इसके सेवन से हमारे शरीर में खून की बहुत सारी कमी पूरी होती है और साथ ही इसके सेवन से हमारे शरीर में एनर्जी भी बनी रहती है ,फल खाने से हमारी स्किन पूरी तरह ग्लो करने लगती है अगर आप रोजाना सुबह नास्ते में फल खाते है तो ऐसे में आप फिट होने के साथ साथ आपका चेहरे पर भी चमक आने लगेगी . फल प्रोटीन ,विटामिन की कमी को भी पूरा करता है। इसलय रोजाना इसका सेवन करना चाहिए। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे फल के बारे में बताने वाले जिसके अधिक सेवन से सेहत पर असर पड़ सकता है।

तो चलिए आपको बताते हैं कि आखिर पपीता को कब खाना चाहिए और कब नहीं।

गर्भपात होने का खतरा

अकसर ऐसा कहा जाता है कि गर्भपात महिला को पपीते का सेवन नही करना चाहिये वयोकि इसके सेवन से गर्भपात महिला को उनके गर्भपात होने का खतरा बना रहता है ऐसा इसलिए वयोकि पपीता गर्भाशय को संकुचित कर देता है।

गले को कर सकता है प्रभावित

पपीते का सेवन ज्यादा करना हमारे सेहत के लिया अच्छा नही माना जाता है अगर आप इसका अधिक सेवन करी है तो ऐसे मी आपको कई बीमारियों का सामना करना पड़ेगा इसके अधिक सेवन से आपका गला प्रभावित होने लगता है।

ब्रेस्टफीडिंग कराते हैं तो इसे खाने से बचें

डिलीवरी होने के बाद भी पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि पपीते में Papain नाम का एक विषाक्त पदार्थ होता है जो छोटे बच्चे के लिए हानिकारक होता है इसलिए इसे नहीं खाना चाहिए।