ED एक्शन को कांग्रेस ने बताया बदले की सियासत, BJP ने कहा- कानून करेगा अपना काम

कांग्रेस (Congress) ने नेशनल हेराल्ड (National Herald) अखबार के हेडक्वार्टर समेत कई जगहों पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) की छापेमारी (Raid)को प्रतिशोध की राजनीति करार दिया है. प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने मंगलवार को कहा कि वह केंद्र सरकार (Modi Government) के इस तरह के कदमों से झुकने और डरने वाली नहीं है तथा महंगाई एवं बेरोजगारी को लेकर आवाज बुलंद करती रहेगी.

दूसरी तरफ, भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने कहा कि इस मामले में कानून अपना काम करेगा. कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश (Jairam Ramesh) ने ट्वीट किया, ‘हेराल्ड हाउस (Herald House) पर छापेमारी भारत के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस पर लगातार हो रहे हमले का हिस्सा है. हम उन सभी लोगों के खिलाफ की जा रही प्रतिशोध की राजनीति की कड़ी निंदा करते हैं, जो मोदी सरकार के खिलाफ बोलते हैं. आप हमें चुप नहीं करा सकते.’

आरोपों पर क्या बोली कांग्रेस?
कांग्रेस (Congress) के आरोप पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) प्रवक्ता शहजाद पूनावाला (Shehzad Poonawalla) ने सवाल किया कि क्या इस मामले में अदालत द्वारा गांधी परिवार को राहत नहीं दिया जाना भी प्रतिशोध है?

‘प्रतिशोध नहीं, कानून कर रहा है अपना काम’
बीजेपी महासचिव सीटी रवि (CT Ravi) ने कहा कि इंडियन नेशनल कांग्रेस में कुछ भी इंडियन नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया, ‘भ्रष्ट सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और उनके पुत्र राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ईडी की कार्रवाई का सामना कर रहे हैं, क्योंकि उन्होंने नेशनल हेराल्ड मामले में गड़बड़ी की है.’ सीटी रवि ने कहा, ‘गुलाम इसे प्रतिशोध कह सकते हैं, लेकिन कानून अपना काम करेगा.’

बदले की भावना से काम कर रही है BJP: कांग्रेस
कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने संसद भवन के बाहर कहा, ‘आज ईडी ने नेशनल हेराल्ड के दफ्तर पर छापा मारा. मोदी सरकार बदले की भावना से आज जिस तरह काम कर रही है, वैसा आजाद भारत के इतिहास में कभी नहीं हुआ.

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, ‘यंग इंडियन एक ‘नॉट फ़ॉर प्रॉफिट’ कंपनी है और इसके निदेशक को कोई मुनाफा मिल ही नहीं सकता. एजेएल एक अखबार है, कोई व्यावसायिक संगठन नहीं है- जैसा भाजपा प्रचारित कर रही है.’

BJP का इलेक्शन डिपार्टमेंट बनी ईडी
सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, ‘ईडी ने सोनिया गांधी जी से 3 दिन पूछताछ की; राहुल गांधी जी से 5 दिनों में 50 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की. अब या तो ईडी बिलकुल नकारा बन चुकी है या भाजपा का ‘इलेक्शन डिपार्टमेंट’ बन चुकी है. इस देश के असल मुद्दे महंगाई और बेरोजगारी हैं. आप कितने ही छापे मारे लो, हम सड़क से संसद तक इन दो मुद्दों पर आवाज़ उठाते रहेंगे. ईडी के छापों से डरने वाले और लोग होंगे, कांग्रेस, हमारे नेता और हम इन छापों से नहीं डरेंगे.’ उधर, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ईडी की कार्रवाई के खिलाफ ‘हेराल्ड हाउस’ के बाहर प्रदर्शन किया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाए.

नेशनल हेराल्ड के हेडक्वार्टर समेत 12 जगहों पर ईडी की रेड
समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मनी लॉन्ड्रिंग केस की जांच के तहत कांग्रेस के स्वामित्व वाले नेशनल हेराल्ड समाचार पत्र के मुख्यालय सहित यहां 12 स्थानों पर मंगलवार को छापा मारा. अधिकारियों के मुताबिक प्रीवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) की आपराधिक धाराओं के तहत छापे मारे जा रहे हैं, जिससे यह पता लगाने के लिये अतिरिक्त सबूत एकत्र किए जा सकें कि धन का लेन-देन किसके बीच हुआ. ईडी ने इस मामले में हाल में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी और कांग्रेस के कुछ अन्य नेताओं से पूछताछ की थी.

यह भी पढ़ें:

CNG-PNG की कीमतों में इजाफा, लखनऊ में सीएनजी का दाम डीजल से हुआ अधिक; चेक करें लेटेस्ट रेट्स