नेशनल हेराल्ड केस में 42 घंटे की पूछताछ से भी ED संतुष्ट नहीं, आज फिर राहुल गांधी को देने होंगे सवालों के जवाब

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से नेशनल हेराल्ड मामले में सोमवार को चौथी बार पूछताछ की। धनशोधन मामले में करीब 12 घंटे की पूछताछ के बाद कांग्रेस नेता सोमवार मध्य रात्रि के बाद ईडी कार्यालय से निकले। ईडी ने उन्हें मंगलवार को फिर बुलाया है।

ईडी राहुल से अब तक चार दिनों में 42 घंटे से ज्यादा पूछताछ कर चुकी है। आपको बता दें कि जांच एजेंसी ने इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी 23 जून को पेश होने को कहा है। कांग्रेस अध्यक्ष को सोमवार को ही अस्पताल से छुट्टी मिली है।

डॉक्टरों ने उन्हें कुछ दिन आराम करने की सलाह दी है। ऐसे में अभी यह साफ नहीं है कि वह पूछताछ के लिए पेश होंगी या नहीं। इससे पहले उन्हें आठ जून को पेश होना था, लेकिन कोरोना संक्रमित होने की वजह वह नहीं जा पाई थीं।राहुल गांधी सोमवार को 11:05 बजे एपीजे अब्दुल कलाम रोड स्थित प्रवर्तन निदेशालय मुख्यालय पहुंचे।

करीब साढ़े चार घंटे की पूछताछ के बाद दोपहर लगभग साढ़े तीन बजे वह भोजन करने के लिए बाहर निकले। शाम साढ़े चार बजे वह एक बार फिर ईडी दफ्तर पहुंच गए और रात 12 बजे तक मौजूद रहे।

कब-कितनी पूछताछ

ईडी ने इस मामले में पिछले सप्ताह राहुल गांधी से लगातार तीन दिन तक पूछताछ की थी। 13 जून को 10 घंटे, 14 जून को 11 घंटे और 15 जून को नौ घंटे पूछताछ की गई थी।

सोमवार को भी ईडी ने करीब 12 घंटे पूछताछ की है। ऐसे में प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी अब तक राहुल गांधी से 42 घंटे से ज्यादा पूछताछ कर चुके हैं। ईडी के एक अधिकारी ने कहा कि मामले की जांच जारी है।

प्रियंका ने कार्यकर्ता को अपनी कार में बैठाया

प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर के करीब तक कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी राहुल गांधी के साथ गई थीं। ईडी मुख्यालय के रास्ते में कई पार्टी कार्यकर्ता भी मौजूद थे। पुलिस ने ऐसे ही एक कार्यकर्ता को पकड़ने की कोशिश की तो प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपनी गाड़ी रुकवाई। उस कार्यकर्ता को अपने पास बुलाया और अपनी कार में बैठा लिया। दरअसल, इस कार्यकर्ता ने अपने कुर्ते पर राहुल गांधी की तस्वीर लगा रखी थी।

यह पढ़े: महाराष्ट्र सरकार पर परमबीर सिंह के सनसनीखेज आरोप, CBI से कहा- सचिन वाझे को बहाल करने के लिए डाला गया दबाव