लंबे समय तक रहेगा कोरोना का असर, ठीक हो चुके लोगों को सता सकती है ये तकलीफें

कोरोना वायरस ने दुनियाभर में तबाही का माहौल बना दिया है। लेकिन समय के साथ अब इस वायरस का प्रभाव कम होता दिखाई दे रहा है और ठीक होने वाले मरीजों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस से ठीक होकर बाहर आ चुके लोगों को लंबे समय तक कई तरह की तकलीफें झेलनी पड़ सकती है। ब्रिटेन की सरकारी स्वास्थ्य एजेंसी नेशनल हेल्थ सर्विस(NHS) ने ऐसे लोगों को चेतावनी जारी की है।

शरीर पर बना रहेगा बुरा असर

एनएचएस का कहना है कि कोरोना से ठीक होने के बाद भी उस व्यक्ति के शरीर में लंबे समय तक इसका प्रभाव रहेगा। इस के ऊपर अभी रिसर्च जारी है।

सामान्य जीवन में लौटना चुनौतीपूर्ण

एनएचएस वैज्ञानिकों ने रिसर्च कर जाना है कि कोरोना से रिकवर हो चुके लोगों का सामान्य जीवन में लौटना चुनौतीपूर्ण होगा। ऐसे लोगों को लंबे समय तक स्ट्रोक, किडनी डिसीज और अंगों की घटती कार्यक्षमता का सामना करना पड़ सकता है।

एनएचएस का कहना है कि ब्रिटेन में कोरोना से उबरने वाले मरीजों के लिए एक खास मॉडल बनाया जायेगा। इस मॉडल के तहत उनका मानसिक असंतुलन, सांस लेने में तकलीफ और हृदय रोगों जैसी समस्याओं से लड़ने में सहायता की जा सकेगी। पिछले सप्ताह भी एनएचएस ने बताया था कि संस्था उन लोगों की मदद करेगी, जिन लोगों के शरीर में किसी तरह के डैमेज या अंगों को नुकसान हुआ है। एनएचएस उबरने के बाद के परिणामों से बचाव पर कार्य कर रहा है।

यह भी पढ़े: सुबह की इन पांच गलत आदतों से बढ़ता है मोटापा, जरूर करें बदलाव
यह भी पढ़े: लिवर को हमेशा स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो अपनाएं ये उपाय!