बिजली के झटके लगने से बढ़ती है रचनात्मक क्षमता

मनोरोगियों को इलाज के लिए बिजली के झटके दिए जाते हैं। यह मानसिक स्थिति को ठीक करने में बहुत सहायक होता है। इसका एक और फायदा सामने आया है। अमेरिकी शोधकर्ताओं के मुताबिक, बिजली के नियंत्रित झटके रचनात्मकता को ब़ढाने में बहुत सहायक होते हैं।

जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों ने यह निष्कर्ष ट्रांसक्रैनियल डायरेक्ट करंट स्टिमुलेशन (टीडीसीएस) का रचनात्मकता से जु़डे मस्तिष्क के हिस्से पर प्रयोग के बाद निकाला है। मनोविज्ञान विभाग के प्रोफेसर एडम ग्रीन ने बताया कि टीडीसीएस के प्रयोग के बाद व्यक्ति के दिमाग के संबंधित हिस्से (फ्रंटोपोलर कोर्टेक्स) में गतिविधि बढ़ने के संकेत मिले हैं। फ्रंटोपोलर कोर्टेक्स रचनात्मक सोच की प्राकृृतिक क्षमता को ब़ढाने में मददगार होता है। दिमाग के इस हिस्से में गतिविधि बढऩे से व्यक्ति की सृृजनात्मक क्षमता में उल्लेखनीय वृृद्धि भी देखी गई है। टीडीसीएस के इस्तेमाल ने सोचने–समझने की परंपरागत समझ को पूरी तरह बदल कर रख दिया है।

यह भी पढ़ें:

औषधीय गुणों से भरपूर होता है काला नमक, जानिए इसके बड़े फायदे

जानिए, गुलाब जल के औषधीय गुणों के बारे में