Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / पेट को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंच सकता है यह काम, जानिए क्या करें उपाय

पेट को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंच सकता है यह काम, जानिए क्या करें उपाय

Loading...


हम में से बहुत से लोगों की दिन की शुरूआत ही चाय से होती है | भारत को चाय प्रधान देश कहा जाए तो कोई भी अतिशयोक्ति नहीं होगी |भारत में तकरीबन 90 प्रतिशत लोग सुबह नाश्ते से पहले चाय जरुर पीते हैं |

दरअसल चाय लोगों की एक आदत बन जाती है ,चाय का नशा भी हो जाता है|लेकिन हम बताने जा रहे है कि चाय के ऩफा और नुकसान दोनों ही होते है –

चाय में ढेर सारा एसिड मौजूद होता है, खाली पेट सुबह पीने से पेट के रस पर सीधा प्रभाव पड़ता है। इसलिये कई लोगों को सुबह चाय पीनी बहुत अच्छी नहीं लगती|

अगर चाय में दूध ना मिलाया जाए तो वह बहुत ही फायदा पहुंचाती है, जैसे मोटापा कम करना। पर अगर अधिक ब्लैक टी का सेवन किया जाए तो वह सीधे पेट पर गहरा असर करती है।अध्ययन के अनुसार पाया गया है कि जो लोग खाली पेट बहुत अधिक दूध वाली चाय पीते हैं, उन्हें थकान का एहसास बहुत ज्यादा है।

खाली पेट कड़ी चाय पीने से पेट को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंच सकता है। कड़ी चाय से पेट में अल्सर और एसिडिटी हो सकती है।

चाय के साथ बिस्कुट या अन्य चीज़ें खाने से पेट द्वारा चाय अच्छी तरह से पचा ली जाती है। दूसरी ओर चाय के साथ नमकीन या मीठा खाने से शरीर को सोडियम की प्राप्ती होती है, जिससे अल्सर नहीं होता।

चाय में टैनिन नामक पदार्थ होता है, ऐसे में वह आपके खाने में मौजूद आयरन के साथ रिएक्ट कर सकती है इसलिये दोपहर में खाना खाने के बाद कभी भी चाय ना पियें।

यह हम सब जानते हैं कि जोड़ो का दर्द हमारे लिए बहुत ही तकलीफदेह हो सकता हैं, जोड़ों की बीमारियों से दर्द और चलने-फिरने में बहुत परेशानी हो सकती हैं, इनमें से कुछ समस्याओं के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती हैं, लेकिन ज्यादातर जोड़ों के दर्द में राहत के लिए आप इन उपायों का पूरी तरह अपना सकते हैं।

मसाज थैरेपी करवाएं – मसाज थैरेपी जोड़ों के दर्द के लिए एक बहुत ही आसान उपाय है। इससे जोड़ों के दर्द में जल्द से जल्द राहत मिलती है। मसाज थैरेपी के जरिए रक्त संचार शरीर में विल्कुल ठीक होता हैं और जोड़ों का सूजन बहुत कम हो जाता हैं, आप इसे घर पर किसी फिजियो-थैरेपिस्ट की मदद से कर सकते है। फिजियो-थैरेपिस्ट से इसे सीखने के बाद आप इसे घर पर भी खुद कर सकते है। सरसो, जैतून और नारियल तेल के मसाज से जोड़ों के दर्द में बहुत ही आराम मिलता है।

आइस थैरेफी करवाए– जोड़ों के दर्द में निजात के लिए बर्फ थैरेपी से भी बहुत राहत मिलती हैं, 15 से 20 मिनट तक की एक दिन में कुछ बार यह थैरेपी करवाने से आपको जोड़ों के दर्द में बहुत राहत मिलेगी। यह जोड़ों के दर्द को कम करने के साथ सूजन भी कम करने में भी बहुत मददगार होती है।

हीट थैरेपी– प्रभावित जोड़ों के दर्द पर तीन मिनट की हीट थैरेपी बहुत ही असरदार हो सकती हैं, हीट थैरेपी से सूजन बहुत जल्द कम होता हैं और जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है। हीट थैरेपी किसी हॉट बैग या तौलियां के जरिए ही लिया जाना चाहिए। डायरेक्ट हीट थैरेपी से नुकसान भी ज्यादा हो सकता है।

दवाईयां– जोड़ों के दर्द के उपचार के लिए आप डॉक्टर की सलाह लेकर कुछ दवाइयों का भी इस्तेमाल अवश्य कर सकते हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *