आजम की जौहर यूनीवर्सिटी पर प्रवर्तन निदेशालय का शिकंजा

सीतापुर जेल में निरूद्ध समाजवादी पार्टी (सपा) के कद्दावर नेता मोहम्मद आजम खान की मुसीबते खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। शत्रु संपत्ति व अवैध कब्जे की जांच के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और राजस्व विभाग की टीम ने बुधवार को आजम के ड्रीम प्रोजेक्ट मौलाना मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी में डेरा जमाया और जमीन की पैमाइश की।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय ने जिलाधिकारी रविंद्र कुमार मांदड़ को राजस्व विभाग की टीम का गठन करने के निर्देश दिए थे। इसके चलते जिलाधिकारी के निर्देश पर जिले में नौ सदस्यीय राजस्व विभाग की टीम का गठन किया गया। तहसीलदार सदर प्रमोद कुमार के नेतृत्व में इस टीम का गठन किया गया, जिसमें नायब तहसीलदार सदर शिव प्रकाश सरोज, प्रभारी राजस्व निरीक्षक संजय गंगवार, दरबारी लाल शर्मा, क्षेत्रीय लेखपाल प्रेमपाल, फतेहपाल, मुकेश, नरेश, रवि कुमार शामिल हैं।

ईडी के डिप्टी डायरेक्टर अमित मिश्रा के नेतृत्व में नौ सदस्यीय टीम ने जौहर यूनिवर्सिटी पहुंचकर जांच पड़ताल की। साथ ही जमीन की पैमाइश की, हालांकि इससे पहले भी राजस्व विभाग की टीम यूनिवर्सिटी में पैमाइश कर चुकी है, लेकिन ईडी के साथ टीम ने दोबारा सर्वे रिपोर्ट तैयार की है।

यह भी पढ़े: फिरोजाबाद में अपहरण और हत्या के दो दोषियों को उम्रकैद