Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / यूरोपीय संघ के सांसदों ने कश्मीर मुद्दे पर भारत का किया समर्थन

यूरोपीय संघ के सांसदों ने कश्मीर मुद्दे पर भारत का किया समर्थन

यूरोपीय संघ के सांसदों ने कश्मीर मुद्दे पर भारत का समर्थन किया है। यूरोपीय संघ के सांसदों ने आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्‍तान की निंदा की है। यूरोपीय संघ के सांसद रिषाद चार्लेस्‍की और स्‍नूवीयो मार्तस्‍यालो ने कश्मीर मुद्दे पर भारत का समर्थन किया है और आतंकवादियों को पनाह देने के लिये पाकिस्तान की आलोचना की है।

यूरोपीय संसद के पूर्ण सत्र में हुई विशेष चर्चा के दौरान चार्लेस्‍की ने भारत को दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र बताया। उन्होंने कहा कि यूरोपीय संघ की संसद को जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकवादी हमलों पर विचार करने की ज़रूरत है। उन्‍होंने कहा कि ये आतंकवादी चंद्रमा से नहीं उतरे थे, बल्कि पड़ोसी देश से आये थे। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय दबाव के बावजूद आतंकवादियों को सुरक्षित पनाह देने के लिये पाकिस्तान की निंदा की।

Loading...

यह भारत की सुंदरतम जगह है और सुरक्षा तथा स्थिरता के बीच पिछले 70 वर्षों से इसका दर्जा अनिश्चित होने के कारण यह क्षेत्र प्रायोजित आतंकवाद और उग्रवाद के खतरे से जूझ रहा है। अब अंतत: स्थिति को सही करने का अवसर आ गया है।

यूरोपीय संसद के एक और सदस्य मार्तस्‍यालो ने कहा कि पाकिस्तान परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की धमकी दे रहा है, जो कि यूरोपीय संघ के लिये चिंता का विषय है। पाकिस्तान को मानवाधिकार हनन का दोषी बताते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से जुड़े आतंकवादी यूरोप में भी आतंकी हमले करवा चुके हैं। यूरोपीय संघ में भारतीय मूल की सांसद नीना गिल ने संविधान के अनुच्छेद 370 पर भारत के निर्णय का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि इससे क्षेत्र के लोगों को समान अधिकार मिलेंगे।

उन्‍होंने कहा कि पाकिस्तान के कब्ज़े वाले कश्मीर में मानवाधिकारों का हनन हो रहा है और यूरोपीय संघ के कई सांसद इस पर खामोश हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर मुद्दे का समाधान तभी होगा जब पाकिस्तान की ओर से प्रायोजित आतंकवाद और विश्वस्तर पर दुष्प्रचार का सिलसिला ख़त्म होगा।

नए सिरे से लिखा जाएगा भारत की सीमाओं का इतिहास

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *