ज़्यादा थकान इस बीमारी के होते हैं लक्षण, जानिए कैसे करें इसकी पहचान

वर्तमान समय में हम थोड़ा सा काम ज्यादा कर लेते हैं तो थकान महसूस होने लगती हैं। आजकल शुगर से संबंधित बीमारियां बहुत ही ज्यादा बढ़ रही हैं। इसके कारण होने वाली गंभीर बीमारियों में डायबीटीज, हृदय से संबंधित रोग और थकान आदि शामिल है। अगर दिन खत्म होने तक आपको कुछ मीठा खाने की इच्छा होती है तो यह चीनी के नशे का एक बहुत ही सामान्य लक्षण है जिसके बारे में आपको सावधान रहना होगा। अगर आपको यह महसूस नहीं हो रहा है कि आप चीनी की कितनी मात्रा खा रहे हैं तो इन बातों का रखें खास ख्याल-

* अगर आपको दिन भर थकान लगती है तो यह इस बात का सबसे बड़ा संकेत है कि आप बहुत अधिक मात्रा में चीनी खा रहे हैं। मीठे पदार्थों से मिलने वाला काब्र्स बहुत कम समय के लिए होता है और यह डायट आपको बुरी तरह से काबू में कर सकती है।

* हमेशा सर्दी और फ्लू होना
अक्सर बार-बार बीमार पडऩा इस बात का संकेत देता है कि आपको चीनी के सेवन की मात्रा कम करनी होगी। वास्तव में यह आपकी इम्यूनिटी (प्रतिरक्षा) को कमजोर बनाती है और शरीर की बीमारियों से लडऩे की क्षमता को घटाती है।

* दिमाग में हमेशा टेंशन रहना
जब आप चीनी खाते हैं तो ब्लड शुगर जल्दी बढ़ता है। बुरे ब्लड शुगर से कॉगनिशन का खतरा होता है। यह शरीर पर शुगर का सबसे ज्यादा नकारात्मक प्रभाव है। इससे आपका दिमाग खाना खाने के बाद भी शांत नहीं हो पाता है।

* टेस्ट बड का कमजोर होना
बहुत ज्यादा चीनी खाने से टेस्ट बड मर जाते हैं। समय के साथ चीनी टेस्ट बड को सुन्न कर देती है। इसलिए फिर से मीठा स्वाद हासिल करने के लिए उन्हें ज्यादा चीनी खाने की इच्छा होती है। इसलिए अच्छा होगा कि आप चीनी की मात्रा पहले ही कम कर दें।

* त्वचा से संबंधित समस्याएं
चीनी के कारण शरीर में सूजन बढऩे लगती हैं और स्कीन से संबंधित परेशानियां होने लगती है। जैसे की ऐग्जिमा, मुंहासे, तैलीयता और शुष्कता समस्याएं होना शुरु हो जाती हैं।चीनी की मात्रा कम करने से इन समस्याओं से छुटकारा मिलता है। चीनी की ज्यादा मात्रा खाने के कारण ये सभी समस्याएं प्रमुख रूप से होती हैं।

* वजन बढऩा
चीनी में फायबर और प्रोटीन नहीं होता, केवल कैलरीज होती हैं। इसके कारण यह शरीर में अधिक इंसुलिन स्रावित करता है। इंसुलिन एक तरह का हार्मोन है जो वजन बढऩे के लिए जिम्मेदार होता है।