जरूरत से ज्यादा पानी आपके स्वास्थ्य के लिए नहीं है अच्छा

कहते हैं कि जल ही जीवन है। अर्थात पानी के बिना मनुष्य अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकता। स्वस्थ रहने के लिए दिन में आठ से दस गिलास पानी पीने की सलाह दी जाती है। लेकिन जरूरत से ज्यादा पानी आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

जरूरत से ज्यादा पानी का सेवन दिमाग के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं माना जाता। एक शोध के अनुसार, शरीर में ज्यादा मात्रा में पानी पीने से सोडियम का लेवल तेजी से कम होने लगता है, जिससे दिमाग में सूजन आ सकती है। साथ ही इससे हाइपोट्रिमिया का खतरा बढ़ भी जाता है। सोडियम एक तरह का इलेक्ट्रोलाइट है, जो शरीर में पानी की मात्रा को नियंत्रित करता है।

जरूरत से ज्यादा पानी पीने से ओवरहाईड्रेशन की समस्या हो सकती है, जिसका सीधा असर किडनी पर पड़ता है। दरअसल किडनी ही शरीर में पानी को फिल्टर करने का काम करती हैं। जब आप ज्यादा पानी पीते हैं तो वह पूरे पानी को बॉडी से बाहर नहीं निकाल पाती, जो किडनी पर दवाब पड़ने लगते हैं। लंबे समय तक ऐसा होने से किडनी फेल होने का भी खतरा हो सकता है।

यह सच है कि पानी की कमी सिरदर्द का एक मुख्य कारण है लेकिन आवश्यकता से अधिक पानी का सेवन भी सिरदर्द की वजह बनता है। ज्यादा पानी पीने से शरीर की कोशिकाएं सूजकर बड़ी हो जाती हैं, जिससे दिमाग पर असर पड़ता है। इससे सिरदर्द, जी मचलना, उल्टी और चक्कर आने लगते हैं। साथ ही रक्त वाहिकाएं और दिमाग पर लगातार दबाव पड़ने से शरीर में थकावट-सी होने लगती है।

ज्यादा पानी खून के घनत्व को बढ़ा देता है, जिससे दिल की बीमारियों और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। जिन मरीजों की बाइ-पास सर्जरी हुई होती है, कुछ मामलों में ऐसे मरीजों को डॉक्टर कम पानी पीने की सलाह देते हैं।

जरूरत से ज्यादा पानी हमारे शरीर की पाचन प्रक्रिया को बिगाड़ सकता है। दरअसल, ज्यादा पानी पीने से भोजन को पचाने में मदद करने वाला श्पाचन रसश् काम करना बंद कर देता है, जिससे भोजन देर से पचने लगता है। इससे पेट से संबंधित रोग होने की आशंका बढ़ जाती है।