सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है अत्यधिक फलों का सेवन

यदि आप अपने बच्चों पर फलों के अधिक सेवन के लिए अत्यधिक दबाव डालते हैं, तो ऎसा न करें। आवश्यकता से अधिक फलाहार के बुरे परिणाम हो सकते हैं, जो बच्चों में अवसाद के रूप में हमारे सामने आ सकते हैं।

एक रिसर्च के अनुसार, फलों में स्वाभाविक रूप से शर्करा होती है, जो फ्रक्टोस की उपलब्धता के लिए पूरी तरह जिम्मेदार है। जरूरत से ज्यादा फलाहार कि शोर होते बच्चों में अवसाद और बेचैनी को पूरी तरह बढ़ा सकता है और साथ ही दिमागी प्रतिक्रिया को भी बहुत हद तक प्रभावित कर सकता है।

अटलांटा के एमोरी युनिवर्सिटी के शोधकर्ता ने बताया कि हमारे रिसर्च के नतीजे आपके आहार के मस्तिष्क के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव और किशोर होते बच्चों में पोषण के महत्व पर पूरी तरह प्रकाश डाल सकते हैं। यह रिसर्च वाशिंगटन डीसी में आयोजित सोसायटी फॉर न्यूरोसाइंस की वार्षिक बैठक न्यूरोसाइंस 2014 में पेश की गई है।

यह भी पढ़ें:

सेहत के लिए बेहद गुणकारी होता है कच्चा पपीता, जानिए इसके फायदे

बालों से जुड़ी सभी समस्याओं का रामबाण इलाज है आलू का रस, जानिए लगाने का तरीका