सेहत के लिए अत्यधिक नेलपॉलिश का उपयोग हानिकारक हो सकता है

खूबसूरती में सिर्फ आपका चेहरा ही नहीं बल्कि आपके शरीर के अन्य सारे अंग भी आते हैं। बहुत सारे लोग चेहरे को नहीं बल्कि हाथों पैरों की खूबसूरती को ही अपनी असल खूबसूरती मानते हैं लड़कियां चेहरे के साथ अपने हाथ पैरों की भी पूरी केयर करती हैं। हाथों-पैरों पर नियमित मैनीक्योर-पैडीक्योर करवाती रहती हैं। इसी के साथ नेलपेंट भी लगाती हैं।

नेलपेंट लगाने से नाखून खूबसूरत तो लगते हैं लेकिन यह आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकती हैं। जी हां नेलपॉलिश कैंसर को जन्म दे सकती है। यह बात हम नहीं बल्कि हाल ही में हुए शोध में कही गई है।

एक शोध के मुताबिक, नेलपॉलिश में जो जैल मिलाया जाता है वो सूर्य की खतरनाक पराबैंगनी किरणों को सोख लेता है और यहीं किरणें स्किन कैंसर जैसी घातक बीमारियों को जन्म देती है। नेलपॉलिश में स्मूथ फिनिशिंग के लिए टालुइन नाम का कैमिकल भी मिलाया जाता है जो कार में ईंधन डालने वाले गैसोलीन में इस्तेमाल किया जाता है। यूरोप के कई देशों में इस कैमिकल के इस्तेमाल पर पाबंदी भी है। इसके अलावा नेलपॉलिश में स्पिरिट का भी इस्तेमाल किया जाता है जो फेफड़ों पर बुरा प्रभाव डालता है।

अगर आप इन खतरनाक नेलपॉलिश से बचना चाहती है तो खरीदते समय इस बात को जरूर ध्यान में रखें कि प्रोडक्ट के लेबल टालुइन, फॉरमल्डिहाइड और डाइब्यूटाइल जैसे कैमिकल का इस्तेमाल न किया गया हो।

यह भी पढ़ें-

रोजाना 15 मिनट धूप में बैठना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है