एक्सरसाइज करना लगता है बोरिंग, तो खुद को ऐसे करें मोटिवेट

यह तो हम सभी जानते हैं कि हेल्दी रहने के लिए एक्सरसाइज करना बेहद जरूरी है। लेकिन ऐसे बहुत कम लोग होते हैं जो पूरे दिल से व्यायाम करते हैं। अधिकतर लोगों को तो एक्सरसाइज करना थकाने वाला, उबाउ व बोरिंग लगता है। मोटिवेशन की कमी के चलते कुछ लोग एक्सरसाइज तो शुरू करते हैं लेकिन उसे लेकर रेग्युलर नहीं हो पाते। तो चलिए आज हम आपको ऐसे कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप खुद को बेहद आसानी से मोटिवेट कर पाएंगे-

एक ही एक्सरसाइज को बार-बार करने से व्यक्ति का मन उबने लगता है। एक ही जिम, एक ही फिटनेस रेजीम आपको बोर कर देंगे और इस तरह आप धीरे से इंटरस्ट लूज करने लगेंगे। अपना रूटीन बदलकर देखें। एक्सरसाइज में वेरिएशंस बनाए रखें। जैसे पार्क के आसपास जॉगिंग, योग, पिलाटे, वेट सेशन्स, स्पिनिंग और एरोबिक्स, लेकिन वही करें जो इनमे से आपको सूट करता हो। जब तक आप मिक्स एक्टिविटीज कर रहे हैं और उनसे खुश हैं तो अलग अलग चीजें ट्राय करने में कोई हर्ज नहीं है।

अपनी पसंद का गाना ढूंढें और उसे बार बार प्ले करें चाहे फिर आप उससे बोर ही क्यों न हो जाएं। अपनी प्लेलिस्ट को हमेशा अपडेटेड रखें इस तरह आप हमेशा मोटिवेटेड बने रहेंगे। अगर आपकी वर्कआउट प्लेलिस्ट है तो उसे हमेशा अपडेटेड रखें फिर चाहे नए हिट्स हों या पुराने क्लासिक्स।

अगर आप सच में चाहते हैं कि आपका एक्सरसाइज रूटीन न टूटे ते ग्रुप में एक्सरसाइज करने की कोशिश करें। इससे आप आसानी से एक्सरसाइज कर पाते हैं। साथ ही एक ग्रुप होने के कारण आपका छुट्टी करने का मन भी नहीं करेगा।

कुछ दिनों बाद आपकी एक्सरसाइज क्लासेस बोरिंग लगने लगेंगी लेकिन अगर आपकी प्ले लिस्ट अपडेटेड है तो सेशन मजेदार ही रहेंगे। महीने में एक बार कोई नई क्लास या स्पोर्ट ट्राय करें। क्लास में जाकर एक्सरसाइज करना बहुत अलग एक्सपीरिएंस हो सकता है क्योंकि वहां सभी एक्सपर्ट्स होते हैं।

ज्यादा सोचेंगे तो एक्सरसाइज नहीं कर पाएंगे। जब कभी भी आप अपने एक्सरसाइज सेशन को टालेंगे ऐसे बहानों के साथ की आज थकान ज्यादा है या बहुत भूख लग रही है या आज मन नहीं है तो बाद में गिल्ट महसूस करेंगे। हां अगर आप वाकई बीमार हैं या चोट लगी है या फिर ऑफिस या घर में बहुत व्यस्त हैं तो जरूर एक्सरसाइज स्किप कर सकते हैं। लेकिन सबसे अच्छा होगा अगर आप यह सोचें की छठे कुछ भी ह जाए ये वर्कआउट होकर ही रहेगा और इस बारे में दोबारा नहीं सोचना है।