रोजमेरी दिमाग को स्वस्थ व तेज़ बनाने में बेहद फायदेमंद

रोजमेरी जिसे हम गुल मेहंदी, केशवास के नाम से भी जानते है एक नेचुरल औषधि है। इसका इस्तेमाल खाने का स्वाद व सुगंध बढ़ाने के लिए किया जाता है। लेकिन रोजमेरी सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढाती।

यह हमारी सेहत के लिए भी अत्यंत लाभकारी है। इसके उपयोग से आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक शमता में वृद्धि होती है। इसका इस्तेमाल अनेक तरह के सौंदर्य उत्पादों के लिए भी किया जाता है। कैल्सियम, विटामिन आदि इसमें भरपूर मात्रा में पाए जाते है। आइये जानते हैं इसके सेहत लाभ –

1 कैंसर से बचाए – रोजमेरी का इस्तेमाल करने से कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाव किया जा सकता है। रोजमेरी में कारोनोसोल कैंसर रोधी गुण पाया जाता है जो ब्रैस्ट कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, त्वचा कैंसर, कोलोन कैंसर से बचाव करने में सहायक होता है।

2 याददाश्त करे तेज़ – कारनोसिक तत्व से भरपूर रोजमेरी दिमाग को स्वस्थ रख उसे तेज़ बनाती है। रोजमेरी के सेवन से मस्तिष्क की कार्य प्रणाली सुचारु रूप से चलती है। इसके इस्तेमाल से हमारी याददाश्त बढ़ती है।

3 तनाव से दिलाए छुटकारा – रोजमेरी अपनी मनभावक खुशबू के लिए जाना जाता है। इसकी मनमोहक खुशबू मानसिक तनाव को दूर करके हमे फ्रेश और दिमाग को शांत रखती है।

4 दर्द से दिलाए छुटकारा – रोजमेरी के तेल की मालिश से किसी प्रकार का दर्द उससे राहत मिलती है। आर्थराइटिस के रोगियों के लिए रोजमेरी के तेल की मालिश बहुत फायदेमंद होती है।

5 माइग्रेन से दिलाए राहत – रोजमेरी माइग्रेन के दर्द के लिए एक नेचुरल औषधि है। रोजमेरी की पत्तियों को पानी में कुछ देर उबलने दें। बाद में इस उबले पानी में टॉवल डालकर 10 से 15 मिनट तक इसकी भाप लें। इसकी सुगंध दिमाग में पहुंचकर माइग्रेन के दर्द से छुटकारा दिला देगी।

यह भी पढ़ें:

एल्युमिनियम फॉयल में पैक खाना बनता है इन गंभीर बीमारियों का कारण!

कमर दर्द से हैं परेशान, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे