एक्टिव रहेंगी आंखें, करें ये छोटा सा काम

एग्जाम के दौरान बच्चे घंटों तक पढ़ते हैं। खास तौर पर पढऩे के लिए वह बहुत रात तक जागते हैं। इसका सीधा असर उनकी आंखों पर पड़ता है। आंखें लाल हो जाती हैं, जलन, पानी आना, धुंधला दिखना या डबल दिखना जैसी समस्या भी उत्पन्न होती है।

आंखों की मालिश करें। इससे आंखों में ब्लड सर्कुलेशन बहुत सही रहेगा और यह आंखों के आसपास की मांसपेशियों को बहुत आराम देगी। मालिश से टियर ग्लैंड भी ठीक काम करेंगे और सूखेपन का अहसास भी नहीं होगा। मालिश के लिए उंगलियों से पलकों और भौहों के आसपास की 10-20 सेकंड तक मालिश अवश्य करें।

थकावट को दूर करने के लिए हथेलियों से मालिश अवश्य करें। इसके लिए हथेलियों को तब तक रगड़ें जब तक कि गरम न हो जाएं और फिर हथेलियों को बंद पलकों पर रख दें।

आंखों की एक्सरसाइज के लिए आप एक पेन या पेंसिल को एक हाथ की दूरी पर आंखों के सामने पकड़ें और धीरे-धीरे उसे अपनी ओर ले आए। उसे तब तक देखते रहे जब तक वो आपको साफ दिख रहा हो। इसके बाद फिर उसे धीरे-धीरे दूर ले जाएं। इसे लगभग 10 से 15 बार करें।

ठंडे पानी से आंखों की सिकाई करने से आंखों की सूजन और तनाव बहुत ही दूर होता है। इसके लिए साफ कपड़े में बर्फ लपेटें और उसे बंद आंखों पर रखें। गुलाब जल तनावपूर्ण और थकी आंखों के लिए बहुत अच्छा है। इसके अलावा खीरे के टुकड़े आंखों पर आप रख सकते हैं।