कोरोना से हुई पिता की मौत, जलती चिता में कूद पड़ी बेटी, 70 फीसदी झुलसा शरीर

राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया हैं। दरअसल, मामला कुछ ऐसा हैं कि यहां कोरोना से पिता की मौत होने से दुखी बेटी ने जलती चिता में छलांग लगा दी। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आग में बुरी तरह झुलसा चुकी लड़की को सरकारी अस्पताल में भर्ती करवा दिया, वहां से उसे जोधपुर रेफर कर दिया गया। झुलसने वाली लड़की का नाम चंद्रकला हैं जिसके पिता दामोदरदास का निधन कोरोना से हुआ है।

जानकारी के मुताबिक 73 साल के दामोदरदास शारदा की मौत मंगलवार सुबह कोरोना संक्रमण की वजह से हुई थी। इससे पहले उन्हें रविवार को बारमेर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मौत के बाद अस्पताल प्रशासन ने शव को कोरोना प्रोटोकॉल के हिसाब से अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया। बारमेर सिटी पुलिस स्टेशन के प्रभारी प्रेम प्रकाश के द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक मृतक दामोदरदास की तीन बेटियां हैं।

मृतक की सबसे छोटी बेटी ने अंतिम संस्कार के दौरान श्मशान घाट के भीतर जाने की जिद की, क्योंकि उनके परिवार में कोई पुरुष सदस्य नहीं है। पुलिस ने कहा कि अंतिम संस्कार के दौरान चंद्रकला (34) अचानक पिता की जलती चिता में कूद पड़ी। जिसके बाद वहां मौजूद लोगों से उसे निकला और पुलिस और एम्बुलेंस को जानकारी दी। वह आग से 70 फीसदी झुलस चुकी है और उसे प्राथमिक उपचार के बाद जोधपुर रेफर किया गया है।

यहां भी पढ़े: WhatsApp के जरिए ढूंढें COVID-19 वैक्सीनेशन सेंटर, Follow करें ये सभी Steps
यहां भी पढ़े: रवीना ने कोरोना मरीजों की मदद को बढ़ाया हाथ, दी ऑक्सीजन सिलेंडरों की मदद