शेयर बाजार : बड़ी गिरावट की आशंका गहराई, कच्चे तेल में तेजी से 3000 अंक टूटेगा सेंसेक्स

दुनियाभर के वित्तीय बाजारों में जारी अनिश्चितता के बीच कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से भारतीय शेयर बाजार में बड़ी गिरावट आने की आशंका है। वैश्विक ब्रोकरेज फर्म बैंक ऑफ अमेरिका (बोफा) सिक्योरिटीज ने कहा कि इस साल दिसंबर तक सेंसेक्स वर्तमान स्तर से 3,000 अंक से ज्यादा टूट सकता है।

वहीं, निफ्टी मौजूदा स्तर से करीब 1,000 अंक गिरकर 14,500 तक पहुंच सकता है। इससे पहले ब्रोकरेज फर्म ने जनवरी, 2022 में निफ्टी के 16,000 के स्तर तक पहुंचने का अनुमान जताया था। बुधवार को सेंसेक्स 1.35 फीसदी गिरकर 51,822.53 और निफ्टी 1.44 फीसदी फिसलकर 15,413.30 पर बंद हुआ।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सेंसेक्स पिछले साल अक्तूबर से अब तक 18% और निफ्टी 16% से ज्यादा टूट चुका है। मौजूदा हालात को देखते हुए बाजार में और गिरावट की आशंका है। महामारी के बाद दुनियाभर में आर्थिक और कारोबारी गतिविधियों में तेजी से मांग बढ़ने से आगे भी कच्चे तेल की कीमतें उच्च स्तर पर ही बनी रहेंगी। इससे शेयर बाजारों में और गिरावट की आशंका है।

इक्विटी मार्केट में 2.3 लाख करोड़ का निवेश

खुदरा निवेशक पिछले दो वर्षों से इक्विटी मार्केट में लगातार निवेश कर रहे हैं। उन्होंने इक्विटी बाजार में एनएसई कैश मार्केट सेगमेंट के जरिये 2.3 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया है। इनमें 1.6 लाख करोड़ रुपये का निवेश 2021-22 में हुआ।

विदेशी निवेशकों ने निकाले तीन लाख करोड़

भारतीय बाजार में विदेशी निवेशकों की हिस्सेदारी लगातार घट रही है। यह दिसंबर, 2021 में घटकर 9 साल के निचले स्तर 19.7 फीसदी पर आ गई थी। उधर, खुदरा निवेशकों की हिस्सेदारी एनएसई में सूचीबद्ध कंपनियों में बढ़कर 14 साल के उच्च स्तर 9.7 फीसदी पर पहुंच गई। विदेशी निवेशकों ने अक्तूबर, 2021 से अब तक घरेलू बाजार से 3 लाख करोड़ रुपये की निकासी की है।

कम हो रहे खुदरा निवेशक

अक्तूबर, 2021 में निफ्टी अपने रिकॉर्ड स्तर 18,694 पर था, उस महीने शेयर बाजार में 20.41 लाख नए निवेशक आए थे। उसके बाद से बाजार में भारी गिरावट और विदेशी निवेशकों की बिकवाली को देखते हुए खुदरा निवेशकों की संख्या लगातार कम हो रही है।

लगातार ऐसे घट रही संख्या

महीना जुड़ने वाले
नवंबर, 2021 19.29 लाख
दिसंबर, 2021 18.70 लाख
जनवरी, 2022 18.37 लाख
फरवरी, 2022 15.76 लाख
मार्च, 2022 14.70 लाख
अप्रैल, 2022 13.29 लाख

खुदरा निवेशकों के लिए सही समय

यह खुदरा निवेशकों के लिए बाजार से मुनाफा कमाने का सही समय है। जो निवेशक मार्च, 2020 के अवसर को गंवा चुके हैं, उनके लिए एक बार फिर निवेश का मौका है। -किशोर ओस्तवाल चेयरमैन, सीएनआई रिसर्च सेंसेक्स 706 अंक लुढ़का, 3.43 लाख करोड़ घटी पूंजी घरेलू शेयर बाजारों में पिछले दो कारोबारी सत्रों से जारी तेजी बुधवार को फिर थम गई। वैश्विक बाजारों में बिकवाली, विदेशी निवेशकों की पूंजी निकासी और रुपये के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंचने से सेंसेक्स 709.5 अंक गिरकर 51,822.53 पर बंद हुआ। निफ्टी 225.50 अंक फिसलकर 15,413.30 पर बंद हुआ।

निवेशकों की पूंजी 3.43 लाख करोड़ घटकर 237.20 लाख करोड़ रह गई। सेंसेक्स की 30 में 26 कंपनियों के शेयर लाल निशान में बंद हुए। रुपया रिकॉर्ड निचले स्तर पर 81 के स्तर तक गिर सकता है। डॉलर के मुकाबले रुपया बुधवार को 19 पैसे कमजोर होकर 78.32 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर बंद हुआ। बोफा सिक्योरिटीज ने कहा कि रुपया इस साल अंत तक गिरकर 81 के स्तर तक पहुंच सकता है।

यह भी पढ़े: संगरूर सीट पर आप बनायेगी हैट्रिक: गुरमेल सिंह