अमेरिका में मंदी की आशंकाएं जोर पर, मस्क ने ही नहीं, इन सबने भी चेताया

अमेरिका मंदी की चपेट में आने वाला है या आ चुका है, इसको लेकर बहस छिड़ी हुई है। इस बीच, दुनिया के सबसे रईस अरबपति एलन मस्क ने एक बार फिर अमेरिका की मंदी का जिक्र किया है। इस बार मस्क के अलावा अमेरिका के अर्थशास्त्री नूरियल रौबिनी और गोल्डमैन सैक्स ग्रुप ने भी मंदी की चर्चा की है।

ब्लूमबर्ग को दिए एक इंटरव्यू में एलन मस्क ने कहा कि मंदी की आशंकाएं सबसे ज्यादा हैं। हालांकि, इसमें कोई निश्चितता नहीं है लेकिन इसकी संभावनांए ज्यादा हैं। वहीं, गोल्डमैन सैक्स के अर्थशास्त्रियों ने अमेरिका के जीडीपी ग्रोथ को लेकर लगाए गए अनुमान में कटौती की है। इसके साथ ही मंदी का खतरा बढ़ने की चेतावनी दी है।

वहीं, अर्थशास्त्री नूरियल रौबिनी ने कहा कि उन्हें वर्ष के अंत तक अमेरिकी मंदी की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता विश्वास, खुदरा बिक्री, विनिर्माण गतिविधि और आवास के उपाय धीमी गति से चल रहे हैं, जबकि मुद्रास्फीति अधिक है। हम मंदी के बहुत करीब आ रहे हैं।

आपको बता दें कि अमेरिका के केंद्रीय रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में ऐतिहासिक बढ़ोतरी की है। ब्याज दरों में करीब 30 साल की सबसे बड़ी बढ़ोतरी करने के बाद अमेरिका में मंदी की आहट सुनाई दे रही है। अमेरिका के शेयर बाजार इसके संकेत भी दे रहे हैं।

यह पढ़े: कोल इंडिया के लिए कोयला आयात में अडानी समूह की दिलचस्पी, ये है प्लान