अयोध्या में रामलीला का हुआ समापन, अहिरावण और रावण वध ने खींचा ध्यान

अयोध्या में सरयू तट स्थित लक्ष्मण किला के मैदान में आयोजित नौ दिवसीय रामलीला का आज अंत हो गया। विजयादशमी के अवसर पर रविवार को रावण वध के साथ ही इस फिल्मी रामलीला का समापन हुआ। अंत में भगवान राम के राज्य अभिषेक की लीला ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

लक्ष्मण किला के मैदान में फिल्मी कलाकारों की नौ दिवसीय रामलीला का हुआ समापन

रामलीला के आखिरी दिन रावण अपने भाई अहिरावण को पूरी कहानी बताता है और राम और लक्ष्मण का वध करने का आदेश देता है। पाताल लोक का राजा अहिरावण राम लक्ष्मण को धोखे से अपने साथ ले जाता है। जिसके बाद हनुमान बने बिंदु दारा सिंह उनकी रक्षा के लिए जाते है और उन्हें अहिरावण के चंगुल से सकुशल बचाकर लाते है। साथ ही अहिरावण का भी वध कर देते है। इसके बाद रावण युद्ध मैदान में आता है और राम से भयानक युद्ध होता है।

लक्ष्मण किला के मैदान में फिल्मी कलाकारों की नौ दिवसीय रामलीला का हुआ समापन

 

विभीषण राम को रावण की मृत्यु का ‘नाभि में वार’ वाला उपाय बताते है। जिस पर अमल करते हुए भगवान राम बाढ़ का संधान कर रावण का वध कर देते हैं। राम की सेना खुशी से झूमने लगती है चारों ओर जय श्रीराम का उद्घोष गूंजने लगता है। इसके बाद राम लक्ष्मण सीता सहित पुष्पक विमान से वापस अयोध्या पहुंचते हैं। जहां श्री राम का भव्य राज्य अभिषेक होता है। इसके बाद रामलीला के क्रम में 45 फीट के रावण का दहन किया गया।

रावण दहन
यह भी पढ़े: ड्रग्स मामले में गिरफ्तार टीवी एक्ट्रेस प्रीतिका चौहान 8 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में
यह भी पढ़े: थक चुके हैं नीतीश कुमार, बिहार को संभालने में अब नहीं रहे सक्षम: तेजस्वी यादव