तीन प्रोफेसर समेत 86 कर्मचारियों पर चुनाव में लापरवाही के लिए एफआईआर

बिहार विधानसभा चुनाव कार्य में ड्यूटी लगने पर लापरवाही बरतने वाले तीन प्रोफेसर समेत 86 सरकारी कर्मियों पर नगर थाने में आदेश के अवमानना की एफआईआर दर्ज की गई है। नगर थानेदार ओमप्रकाश ने बताया कि प्राथमिकी नोडल अधिकारी की रिपोर्ट पर दर्ज की गई है।

राज्य कर सहायक आयुक्त रंजीत कुमार ने एफआईआर में कहा है कि  एमआईटी के प्रोफेसर जीगेश यादव, आरएलएसवाई काॅलेज के लेक्चरर अनिल कुमार और बिंदेश्वर प्रसाद को स्टैटिक मजिस्ट्रेट बनाया गया था।

जीगेश यादव को गायघाट, अनिल कुमार को गरहां और बिंदेश्वर प्रसाद को मझौली चौक पर प्रतिनियुक्त किया गया था। लेकिन, तीनों मजिस्ट्रेट ने ड्यूटी जॉइन नहीं की। इधर, जिला स्थापना उप समाहर्ता ने दूसरी एफआईआर में कहा है कि 23 से 26 अक्टूबर तक हुए चुनाव प्रशिक्षण में 83 सरकारी कर्मचारी शामिल नहीं हुए।

मृत कृषि समन्वयक उमानंदन शर्मा को चुनाव कार्य में ड्यूटी पर लगाने तथा प्रशिक्षण से अनुपस्थित बताने की रिपोर्ट भेजने के मामले को डीएम ने गंभीरता से लिया है। डीएम ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए नगर आयुक्त की अध्यक्षता में जांच कमेटी का गठन कर इसके लिए दोषी कर्मचारियों की रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने मृत कर्मचारी को चुनाव प्रशिक्षण से अनुपस्थित बता कर कार्रवाई के लिए अनुशंसा करने के मामले की जांच करने का निर्देश दिया है।