सेहत के लिए मछली के कैप्सूल का सेवन होता है बहुत नुकसानदायक

शरीर को पूरी तरह हेल्थी बनाये रखने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड बहुत आवश्यक होता है। खाद्य पदार्थों से इस कमी को अवश्य पूरा किया जा सकता है। यह ट्यूना,हलिबेट, शैवाल, क्रिल्ल जैसी मछलियों में बहुत ही पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इस कमी को पूरा करने के लिए लोग फिश आयल सप्लीमेंट्स का सेवन भी बखूबी करते हैं लेकिन कुछ लोगों के लिए यह कैप्सिल बहुत नुकसानदायक भी हो सकते हैं। जैसे पाचन क्रिया में गड़बड़ी,स्किन रैश,एलर्जी आदि। आइए जानें इससे होने वाले नुकसान।

अगर फिश स्पलीमेंट के सेवन से आपके चेहरे पर लाल निशान या रैशेज होते है तो इसका सेवन न करे।

मछली के तेल से बने कैप्सूल खाने से अगर आपकी बैक में दर्द होता है तो तुरन्त डॉक्टर की सलाह लें।

कैप्सूल खाने के बाद कई बार जीभ का स्वाद खराब हो जाता है। इसका कारण ये कैप्सूल भी हो सकते हैं।

कैप्सूल के सेवन से अगर पेट में गैस बनती है तो इसका सेवन ना करे। इसके सेवन से ही आपके पेट में गैस बनती है।

मछली के तेल से बने कैप्सूल मुश्किल से पचते हैं, जिस वजह से आपको बुखार,छिंके,जुकाम या गले में खराश की प्रॉब्लम हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें-

जानिए राई के ये फायदे जिसे नहीं जानते होंगे आप