Breaking News
Home / खेल / अंडर-19 विश्वकप के ये पांच स्टार, भविष्य में बन सकते सीनियर टीम के लिए बड़े दावेदार

अंडर-19 विश्वकप के ये पांच स्टार, भविष्य में बन सकते सीनियर टीम के लिए बड़े दावेदार

भारतीय क्रिकेट टीम अंडर-19 विश्वकप 2020 का खिताब जीतने में असफल रही है। फाइनल मुकाबले में बांलादेश ने टीम इंडिया को करारी मात दी। भले ही टीम इंडिया खिताब जीतने से चूक गई हो लेकिन टीम के खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया है। जिनमें से कुछ ऐसे खिलाड़ी भी है जो आने वाले समय में सीनियर टीम के लिए खेलते हुए दिखाई दे सकते है। एक नजर उन प्रतिभाशाली युवाओं पर जो भविष्य में बड़ा नाम बनाने के दावेदार है।

यशस्वी जयसवाल:

फ्यूचर स्टार्स में सबसे पहला नाम यशस्वी जयसवाल का आता है। जिन्होंने कड़े परिश्रम और मेहनत के बाद क्रिकेट जगत में अपनी बड़ी छाप छोड़ी है। अंडर-19 विश्वकप 2020 में वह ना सिर्फ भारत के टॉप स्कोरर रहे बल्कि टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज भी बने। पूरे टूर्नामेंट में उन्होंने 1 शतक और 4 अर्धशतक की मदद से कुल 400 रन बनाये। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 82.47 और बल्लेबाजी औसत 133.33 का रहा।

Loading...

रवि बिश्नोई:

अंडर-19 विश्वकप में न सिर्फ भारत के बल्कि टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज भी रहे। रवि बिश्नोई ने टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 17 विकेट चटकाए। पूरे टूर्नामेंट में उन्होंने कुल 52 ओवर की गेंदबाजी की जिसमें उनका औसत 10.64 और स्ट्राइक रेट 18.3 का रहा। यही नहीं उनका इकोनॉमी रेट 3.48 का था जो काफी बेहतर था। रवि 3 बार 4 विकेट लेने में सफल रहे। रवि को धारदार गेंदबाजी की वजह से जल्द ही सीनियर टीम में स्थान मिल सकता है।

कार्तिक त्यागी:

टूर्नामेंट में कार्तिक त्यागी 6 मैच में 44.2 ओवर की गेंदबाजी में सिर्फ 11 विकेट ले सके। इस दौरान उन्होंने 3.45 की इकोनॉमी रेट से 153 रन खर्च किये। 13.90 की औसत और 24.1 के स्ट्राइक रेट से गेंदबाजी करने वाले कार्तिक अपनी रफ्तार की वजह से फ्यूचर स्टार माने जा रहे है।

अथर्व अंकोलेकर:

अंडर-19 विश्वकप में अथर्व भारत के सबसे सफल ऑलराउंडर रहे। निचले क्रम में टीम को मजबूती देने में वह काफी हद तक सफल रहे और गेंदबाजी में भी उन्होंने काफी अच्छा काम किया। विकेट टेकर गेंदबाज अथर्व भविष्य में टीम इंडिया में जाने के बड़े दावेदार है।

दिव्यांश सक्सेना:

विश्वकप में सलामी बल्लेबाजी करने वाले दिव्यांश सक्सेना एक अच्छे ओपनर साबित हुए है। जायसवाल के साथ उनकी जोड़ी काफी चर्चित रही। उन्होंने टूर्नामेंट की 5 पारियों में 50 की औसत से 150 रन ठोके। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 64.93 का रहा।

यह भी पढ़े: NZ vs IND: 2-0 से वनडे सीरीज हारा भारत, जानिये क्या रहे टीम इंडिया की हार के 5 बड़े कारण
यह भी पढ़े: NZ vs IND: दूसरे वनडे में हर हाल में जीत चाहेगी टीम इंडिया, जाने कब और कहां देखें लाइव स्ट्रीमिंग

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *