अपनाएं कुछ घरेलू उपाय, और बच्चे खसरा जैसी गंभीर बीमारी से

खसरा एक गंभीर रूप से वायरल बीमारी है इसे छोटी माता भी कहते हैं। इसका संक्रमण ज्यादातर छोेटे बच्चों में फैलता है। यह एक तरह का छूत का रोग है जो परिवार में एक व्यक्ति से दूसरे तक फैलता रहता है। रोगी के छींकने से या छूने से भी यह बीमारी फैल जाती है।

इस रोग में शरीर का तापमान लगभग 104 डिग्री तक पहुंच जाता है और खासीं-जुकाम और आंखों से पानी भी आने लगता है। बुखार के 3-4 दिनों के बाद पूरे शरीर पर लाल दाने भी हो जाते हैं और खुजली होने लगती है। इस बीमारी से बचने के लिए कुछ आसान घरेलू इलाज भी किए जा सकते हैं।

1. नीम की पत्तियां

नीम की पत्तियों में एंटीवायरल और एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं जो इस बीमारी से बचने में बहुत मदद करते हैं। नीम के पत्तों को पानी में उबालें और फिर इस पानी से नहाने से रोगी को बहुत ही फायदा होता है। इसके अलावा मरीज के बिस्तर में भी नीम की पत्तियां रखने से शरीर की खुजली और रैशेज से बहुत आराम मिलता है।

2. मुलेठी

मुलेठी के सेवन से भी इस रोग में बहुत ज्यादा फायदा होता है। मुलेठी की जड़ का पाउडर बनाएं और इसे शहद के साथ दिन में 5-6 बार आधा चम्मच लेने से रोगी को बहुत ज्यादा लाभ होता है।

3. इमली का बीज और हल्‍दी

इमली के बीज का पाउडर बनाकर इसमें समान मात्रा में हल्दी मिलाकर खाना भी इस बीमारी में बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। रोजाना मरीज को 350 से 450 ग्राम यह मिश्रण खिलाने से बहुत जल्दी फर्क देखने को मिलेगा।

4. लहसुन और शहद

इस बीमारी से जल्दी राहत पाने के लिए लहसुन के सेवन से बहुत लाभ होता है। लहसुन को शहद के साथ पीस कर नियमित रूप से रोगी को खिलाने से बहुत फायदा होता है।

5. रसदार फल

रोगी को रसदार फलों जैसे संतरे, मौसमी और नींबू का रस अवश्य देना चाहिए। इससे बहुत जल्दी राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें-

आइये जानते हैं अखरोट के सेवन से मिलने वाले फायदे